पाकिस्तान से लौटे वीरसिंह की आज होगी घर वापसी, तीन महीने बाद परिवार से मिलेगा

पुलिस के साथ गांव के छह सदस्यों का दल हुआ रवाना, श्रीगंगानगर पुलिस सौंपेगी माहौल, 20 जुलाई को पाक सेना ने बीएसएफ के हेडओवर किया था

By: हेमंत जाट

Published: 26 Jul 2021, 10:13 AM IST

खरगोन.
जिले के बेडिय़ा थाना क्षेत्र के ग्राम नलवट निवासी वीरसिंह पिता भीमसिंह (35) की मंगलवार को घर वापसी होगी। उस घर आने के लिए राजस्थान के श्रीगंगानगर पुलिस ने स्वीकृति दे दी है। सोमवार सुबह परिजनों के साथ ही गांव के छह सदस्य और बेडिय़ा थाने से एक पुलिसकर्मी रवाना हुआ। जो सात सौ किमी का सफर कर राजस्थान पहुंचेंगे। इसके बाद कागजी प्रक्रिया पूरी होने के बाद वीरसिंह को परिजनों को सौंपा जाएगा। संभवना है कि मंगलवार शाम सभी वापस अपने गांव आएंगे। पिछले करीब सात दिनों से परिवार इसी घड़ी का इंतजार कर रहा था। जैसे ही पुलिस की ओर से सूचना मिली, वैसे ही परिवार के सदस्यों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

24 अप्रैल को पाकिस्तान में मिला था

वीरसिंह की दिमागी हालत ठीक नहीं है। वह करीब तीन महीने पहले घर से लापता हो गया था। परिजनों ने उसे अपने स्तर पर सभी दूर खोजा, किंतु कोई पता नहीं लगा। उधर, भटकते-भटकते वीरसिंह देश की सीमा पार कर पाकिस्तान पहुंच गया था। 24 अप्रैल को पाकिस्तान सेना को मिला। इटलजेंसी द्वारा पूछताछ के बाद 20 जुलाई को पाकिस्तान ने भारतीय बीएसएफ को सौंपा। इसके बाद वीरसिंह को श्रीगंगानगर पुलिस की कस्टडी में रखा गया। वेरिफिकेशन के बाद पुलिस ने वीरसिंह को ले जाने की इजाजत दे दी।

सरपंच के साथ पिता और तीन भाई हुए रवाना

परिवार को राजस्थान जाने के लिए विधायक सचिन बिरला ने वाहन उपलब्ध कराया है। सोमवार सुबह 6 बजे सरपंच देवीसिंह, ग्राम पटेल इंदर पटेल सहित वीरसिंह के पिता भीमसिंह तथा तीन भाई रामलाल ़, श्यामलाल और सुरसिंह किराड़े रवाना हुए।

सहमति दी है

राजस्थान पुलिस ने हमेश से वीरसिंह के बारे में वेरिफिकेशन मांगा था, जो मेल से भेजा गया। पुलिस पूछताछ के बाद उसे घर ले जाने की सहमति दी है। सोमवार परिजनों के साथ टीम रवाना होगी, जो वीरसिंह को वापस लेकर गांव लौटेगी।

जितेंद्रसिंह पंवार, एएसपी खरगोन

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned