scriptWater released from NTPC plant, farm turned into swamp, farmers upset | एनटीपीसी प्लांट से छोड़ा पानी, खेत दलदल में तब्दील, किसान परेशान | Patrika News

एनटीपीसी प्लांट से छोड़ा पानी, खेत दलदल में तब्दील, किसान परेशान

सेल्दा प्लांट से तालाब में पानी छोडऩे के बाद 50 किसानों की फसल चौपट
खेतों में गड्ढा खोदने पर तीन फीट में निकल रहा पानी
पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस ने अधिकारियों की ली बैठक, जांच दल गठित

खरगोन

Updated: July 18, 2021 01:50:25 pm

खरगोन. सेल्दा डालची क्षेत्र के एनटीपीसी का प्लांट शुरू होने के बाद 50 से अधिक किसानों के खेतों की जमीन दलदली हो गई है। जहां विगत तीन साल से किसानों की फसलें खराब हो रही और उन्हें आर्थिक नुकसान उठना पड़ रहा है। दरअसल, प्लांट से पानी छोडऩे की आसपास जमीन दलदली हो गई। किसानों ने बताया कि पूर्व में 7 से 8 फीट तक पानी नहीं निकलता था। लेकिन जब से प्लांट शुरू हुआ है।

meeting
meeting

तब से वहां का पानी जमीनों के अंदर जाकर ओवरफ्लो हो रहा है। वही नलकूप कुंओं का भी जलस्तर लगातार बढ़ा हुआ है। इसी कारण तीन साल से फसल नहीं लगा पा रहे हैं। इस संबंध में एनटीपीसी के अधिकारियों का ध्यान दिलाया गया। लेकिन किसी भी अधिकारी इस ओर ध्यान नहीं दिया।

शुक्रवार शाम को पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस किसानों की समस्या पर संज्ञान लेते हुए एनवीडीए रेस्ट हाउस पर एनटीपीसी और राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। किसानों ने कहा कि उन्हें तीन सालों में जो नुकसान उसकी भरपाई करते हुए अनुपयोगी जमीन का मुआवजा दिया जाए। किसानों की समस्या के निराकरण के लिए जांच दल बनाया गया जो 15 दिन में अपनी रिपोर्ट कलेक्टर को प्रस्तुत करेगा।

एनटीपीसी अधिकारी को दिए निर्देश
चिटनीस ने किसानों की एक एक समस्या पर अधिकारियों का ध्यान दिलाया। वहीं एसडीएम जैन को 10 अलग-अलग मुद्दों पर क्रम अनुसार कार्रवाई करने की बात कही। जिससे किसानों को होने वाली समस्या का स्थाई निराकरण हो सके। चिटनीस ने एनटीपीसी के एचआर जेपी सत्यकाम से भी फोन पर चर्चा कर किसानों की समस्याओं के संबंध में अवगत कराते हुए इसके समाधान के निर्देश दिए। इस दौरान प्रभात उपाध्याय, अनिल अजमेरा, जय करोडा, वारिश जैन, यश गोधा, कपिल जटाले सुकेश पंचोलिया, राहुल हिरोडिया सहित कार्यकर्ता मौजूद थे।

दो घंटे चला विचार मंथन
चिटनीस ने एसडीएम अनुकूल जैन, नायब तहसीलदार कृष्णा पटेल सहित डब्ल्यूआरडी के केके सोलंकी, कृषि विभाग के बीएस सेंगर एवं एनटीपीसी के अधिकारियों के साथ करीब दो घंटे बैठक की। बैठक में एक-एक किसान से उसकी समस्या पूछी गई। किसानों ने बताया विगत तीन सालों से अपनी समस्या से अधिकारियों को अवगत कराते आ रहे हैं, लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। गत वर्ष कृषि विभाग जमीनों की जांच की गई थी। किंतु समाधान नहीं हुआ। इस दौरान सनावद, बेडिय़ा ग्रामीण क्षेत्र के किसान एवं भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपीकेशव मौर्य की चुनौती स्वीकार, अखिलेश पहली बार लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, आजमगढ के गोपालपुर से ठोकेंगे तालकोरोना के नए मामलों में भारी उछाल, 24 घंटे में 2.82 लाख से ज्यादा केस, 441 ने तोड़ा दम5G से विमानों को खतरा? Air India ने अमरीका जाने वाली कई उड़ानें रद्द कीPM मोदी की मौजूदगी में BJP केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक आज, फाइनल किए जाएंगे UP, उत्तराखंड, गोवा और पंजाब के उम्मीदवारों के नामNEET Counselling 2021: राउंड 1 के लिए रजिस्ट्रेशन आज से शुरू, ऐसे करें आवेदनIPL Auction: किस टीम के पास बचा कितना पैसा? जानें मेगा ऑक्शन से जुड़ी सारी डिटेलशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसात
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.