खरीदी केंद्र पर तीन दिन में आ रहा नंबर, किसान हो रहे परेशान

परेशानी...किसान संघ ने की मांग-खरीदी केंद्रों पर कांटे व हम्माल बढा जाए

भीकनगांव. (खरगोन)
लॉकडाउन में जहां मंडियों बंद है, तो वहीं किसान अपनी उपज बेचने के लिए परेशान हो रहे हैं । समर्थन मूल्य पर चल रही खरीदी केंद्रों पर भी दो से तीन दिन में नंबर आ रहा है। इससे किसानों को परेशान होना पड़ रहा है। खरीदी केंद्रों पर कांटे व हम्मालों की व्यवस्था सही व पर्याप्त नहीं होने से किसानों को दो से तीन दिन तक रुकना पड़ रहा है जिसकी शिकायत खरीदी केंद्र प्रभारी के साथ उच्च अधिकारियों को भी की परंतु किसानों की सुनने वाला कोई नहीं आया। तहसील के लालखेड़ा सोसायटी केंद्र पर अधिक दिक्कतें आ रही है।

तीन से खड़े ट्रैक्टर का दे रहे है किराया
किसान धीरज राठौर सुंद्रेल ने बताया कि 1500 रुपए में तीन दिन पहले ट्रैक्टर ट्राली में 30 क्विटल गेहूं लाया था। जिसके बाद मंगलवार को तीसरा दिन हो गया ट्रैक्टर वाला 1500 रुपए रोज के हिसाब से किराया ले रहा है। वहीं 1975 रुपय समर्थन मूल्य हैं अब लगभग 5 से 6 हजार रुपय किराया लग गया है। ऐसे में समर्थन में गेहंू कैसे बचे। वहीं नितेशसिंह मौर्य नरगांव, अंकित राजपूत बाड़ी, राजेन्द्रसिंह तोमर नगरगांव ने बताया कि हमें टोकन वितरण किए गए है। जिसमें किसको 40 तो किसी को 50 तथा ऐसे करते लगभग 60 टोकन वितरण किए गए है। एक दिन में 20 वाहन की खरीदी हो रही है तो हमारे नंबर 3 से 4 दिन में आ रहे हैं।

किसान संघ ने कि खरीदी केंद्र पर व्यवस्था सुधारने की मांग
किसान संघ के जिलाध्यक्ष श्यामसिंह पंवार ने बताया कि भीकनगांव क्षेत्र के ग्राम लालखेड़ा सोसायटी में विगत 3 दिन से किसान खड़े वहां पर पर्याप्त आश्वासन ही दिया गया। यदि किसानो की समस्या का निराकरण जल्द नहीं हुआ तो किसान संघ आंदोलन करेगा। हम्माल व तौल कांटे नहीं होने से किसान काफी परेशान हो रहे है। इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को भी अवगत कराया परंतु उनके द्वारा केवल आश्वासन दिया जा रहा है।

मंडी बंद होने से किसानो का रुख खरीदी केंद्रो पर
गौरतलब है कि भीकनगांव मंडी अभी बंद है तथा मंडी बंद होने के कारण किसान का रुख खरीदी केंद्रों की ओर जा रहा हैं। जिसके कारण भीड़ भडऩे लगी है परंतु समर्थन मूल्य से अधिक भाव भीकनगांव मंडी में अच्छे गेंहू के मिल रहे है। भीकनगांव मंडी में 1900 से 2100 रुपए प्रति क्विटल के हिसाब से बिक रहा हैं।

दिखवाता हूं
मुझे जानकारी मिली है। बुधवार को लालखेड़ा टीम पहुंचाकर व्यवस्थाओं को दिखवाता हूं।
एलएल अहिरवार, एसडीएम भीकनगांव

आवक ज्यादा
शनिवार-रविवार छुट्टी होने व गणगौर पर्व के बाद अचानक आवक बड़ी है। रोजाना लगभग 20 से 22 वाहन खरीदी की जा रही हैं।
चिंताराम शाह, खरीदी प्रभारी

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned