पुलिस की मौजदूगी में हुआ महिला का पीएम, अस्पताल में भर्ती दोनों बच्चों की हालत स्थिर

पिपल्याबावड़ी की घटना, पुलिस कर रही तस्दीक, प्रारंभिक जांच में पारिवारिक विवाद सामने आया

By: हेमंत जाट

Published: 12 Feb 2021, 09:38 PM IST

खरगोन.
पिपल्याबावड़ी में एक महिला ने अपने दो बच्चों के जहर खाकर खुदकुशी का प्रयास किया। इसमें गयाबाई पति अमरङ्क्षसह (28) की मौत हो गई। वहीं एक साल का बालक आशीष और पांच वर्षीय गणेश की हालत गंभीर बनी हुई। दोनों का इंदौर में इलाज जारी है। जहां जिंदगी और मौत से दोनों संघर्ष कर रहे हैं। इस घटना के बारे में जिसने भी सुना और पढ़ा वह सन्न रह गया। ऐसी क्या मजबूरी रही है कि महिला ने खुद जान देने के साथ ही छोटे-छोटे बच्चे को जहर दे दिया। शुक्रवार को सुबह 11 बजे मृतका गयाबाई का पीएम हुआ। यहां मृतका के परिजनों ने सास-ससुर पर मारपीट कर महिला को जबर्दस्ती जहर देने का आरोप लगाया। उधर, घटना प्रकाश में आने के बाद दिनभर पुलिस के आला अधिकारी तस्दीक कर कारणों का पता लगाने में जुटे रहे। पुलिस के साए में ही महिला का पीएम और अंतिम संस्कार किया गया। एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि पुलिस की प्रारंभिक जांच में पारिवारिक विवाद की बात सामने आई है। अभी इन्वेस्टिगेशन जारी है।

यह है मामला
भगवानपुरा से दो किमी दूर पिपल्याबावड़ी में गुरुवार को गयाबाई पति अमरसिंह ने अपने दो बच्चों के साथ जहर गटक लिया। घटना के दौरान परिवार के अन्य सदस्य खेत पर काम कर रहे थे। बड़ी बेटी तारा दौड़ती हुई खेत पर पहुंची और घटना की जानकारी परिजनों को दी। इसके बाद गयाबाई और उसके दोनों बच्चों को परिजन निजी वाहन से खरगोन लेकर आए। जहां महिला ने दमतोड़ दिया।

जांच कर रहे हैं
हृदय विदारक घटना है। पुलिस हर एंगल पर जांच कर रही है। अभी पारिवारिक विवाद की बात सामने आई है। शार्ट पीएम रिपोर्ट में शरीर पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले। जांच कर रहे हैं।
शैलेंद्रसिंह चौहान, एसपी खरगोन

हेमंत जाट Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned