बस स्टैण्ड रोडवेज का , दौडती निजी बसें

बस स्टैण्ड रोडवेज का , दौडती निजी बसें

Kali Charan kumar | Publish: May, 18 2019 07:27:51 PM (IST) | Updated: May, 18 2019 07:27:52 PM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

पुराना बस स्टैण्ड से फिर दौडऩे लगी निजी बसें
यातायात पुलिस और परिवहन विभाग भी नहीं दे रहा है ध्यान


मदनगंज-किशनगढ़. अजमेर रोड स्थित पुराना बस स्टैण्ड के निकट से निजी बसों का संचालन फिर शुरू हो गया है। परिवहन विभाग और यातायात पुलिस की सती के कारण कुछ दिनों के लिए बंद हुआ था, जो फिर से शुरू हो गया है।
पुराना रोडवेज बस स्टैण्ड और नए बस स्टैण्ड के बाहर से निजी बसों का संचालन हो रहा है। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम की बसों के आगे निजी बसें संचालित होती है। इसके कारण सवारियों को बैठाने के चक्कर में कई बार विवाद हो चुका है। रोडवेज से कम किराए का लालच देकर निजी बसों में यात्रियों को बैठाया जाता है। रोडवेज प्रशासन और पुलिस की सती के चलते कुछ समय पहले पुराना बस स्टैण्ड के बाहर से निजी बसों का संचालन बंद हुआ था, लेकिन अब वह पुन: प्रारंभ हो गया है। हालांकि गत दिनों परिवहन विभाग की ओर से इनके खिलाफ चालान आदि बनाए गए थे, लेकिन उसके बावजूद ढाक के तीन पात वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। स्थानीय प्रशासन और यातायात पुलिस इस ओर ध्यान देना मुनासिब नहीं समझ रही है।

हजारों रुपए के राजस्व का नुकसान
बस स्टैण्ड के बाहर से निजी बसें संचालित होने के कारण रोडवेज प्रबंधन को प्रतिदिन हजारों रुपए का नुकसान हो रहा है। रोडवेज बस स्टैण्ड के आस-पास के क्षेत्र से भी बसों का संचालन नहीं किया जा सकता है। इसके बावजूद निजी बसों का धड़ल्ले से संचालन हो रहा है।
यात्रियों को देते हैं कम किराए का लालच
नए रोडवेज बस स्टैण्ड के सामने भी टेवल्स कपनी ने अपना बोर्ड लगा दिया है। लबी दूरी की रोडवेज बसों के आगमन पर निजी बसों के एजेंट के रूप में काम करने वाले लोग यात्रियों को कम किराए का लालच देकर निजी बसों में बैठा देते है। इससे रोडवेज प्रतिदिन हजारों रुपए का नुकसान हो रहा है।
इनका कहना है...
बस स्टैण्ड के निकट टे्रवल्स एजेंसी का बोर्ड लगा दिया है। यात्रियों को कम किराए का लालच देकर निजी बसों में बैठाते हैं। इससे उच्चाधिकारियों को भी अवगत करा दिया है।
- रामेश्वर प्रजापति, स्थानी प्रभारी राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम किशनगढ़।
सिटी में से निजी बसों का संचालन नहीं किया जा सकता है। इनका परमिट ग्रामीण क्षेत्रों का है। परिवहन विभाग की ओर से गत दिनों इनके चालान आदि बनाए थे। अब फिर से कार्रवाई की जाएगी।
- राधेश्याम शर्मा, डीटीओ किशनगढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned