पुराने लेन-देन को लेकर किया था अपहरण

वारदात में प्रयुक्त दो बाइक और मोबाइल भी बरामद

By: Narendra

Published: 14 Sep 2020, 12:58 AM IST

मदनगंज-किशनगढ़ (अजमेर).

पुराने लेन देन का हिसाब चुकता करने के लिए अपहत्र्ताओं ने अपहरण की साजिश रची और इसके बाद वारदात को अंजाम दिया। यह बात आरोपितों ने पूछताछ में पुलिस को बताई है। मदनगंज थाना पुलिस ने आरोपितों की निशानदेही पर वारदात में प्रयुक्त दो मोटरसाइकिलें और मोबाइल भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने दोनों आरोपितों को अदालत में पेश किया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेजने के आदेश दिए गए। प्रकरण में अभी तीसरा आरोपित फरार है और पुलिस को उसकी तलाश है।

सीआई राजवीरसिंह ने बताया कि पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि उनका और रविशंकर वैष्णव के भाई के बीच पैसों के लेन देन का पुराना विवाद है। आरोपितों ने बैंकों से कुछ ऋण भी ले रखा है। पुराना हिसाब वसूलने और ऋण चुकता करने की मन में ठान कर तीनों आरोपितों ने अपहरण की साजिश रची और अपहरण के बाद उनकी मां से फिरौती के रूप में पैसे की मांग कर पैसे वसूलने की ठान वारदात को अंजाम दिया। वारदात से पूर्व तीनों आरोपितों ने रैकी भी की ताकि साजिश असफल ना रहे। आरोपितों को 11 सितम्बर दोपहर को रविशंकर अपने एक साथी भीमसिंह के साथ उन्हें अजमेर रोड रियायंस मॉल के पास खड़े मिल गए और नन्दलाल जाट, विश्राम चौधरी एवं राकेश जाट तीनों ने मिल कर दो मोटरसाइकिलों पर उन्हें बैठाकर अपहरण कर लिया। वे परासिया रेलवे डबल फाटक स्थित नंदलाल जाट के घर ले गए और यहां रविशंकर और भीमसिंह को बंधक बना लिया।

ऐन वक्त पर मिली पुलिस को जानकारी

अपहरण करने के बाद तीनों आरोपितों ने रविशंकर के फोन से उसकी मां को फोन कराकर 5 लाख की फिरौती की मांग कर डाली। अपहर्ताओं के फोन के तत्काल बाद ही सिटी रोड स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय के पास निवासी परमेश्वरी देवी वैष्णव (55) मदनगंज थाना पहुंची और पुलिस को घटनाक्रम की जानकारी दी। परमेश्वरी ने बताया कि दोपहर करीब 1 से 2 बजे के बीच उसके मोबाइल पर बेटे रविशंकर का फोन आया। उसने बताया कि अजमेर रोड मदनगंज स्थित रिलायंस मॉल के पास से उसका और उसके साथी भीमसिंह का अपहरण कर लिया है। अपहत्र्ता उन्हें छोडऩे की एवज में 5 लाख की फिरौती की मांग कर रहे हैं और धमकियां दे रहे हैं। महिला की रिपोर्ट पर मदनगंज थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर महिला के बताए नम्बर को साइक्लोन सेल की मदद से मोबाइल टावर की लोकेशन सर्च किया और कुछ ही घंटों में आरोपितों के ठिकाने पर पहुंच गई। पुलिस ने परासिया रेलवे डबल फाटक स्थित नंदलाल के घर से रविशंकर और भीमसिंह को आजाद कराया और दो आरोपितों को भी पकड़ लिया।

तीसरे आरोपित की तलाश

सीआई सिंह ने बताया कि रविशंकर वैष्णव और भीमसिंह के अपहरण और फिरौती की मांग करने के बाद पुलिस ने दो आरोपित अजमेर रोड परासिया स्थित रेलवे डबल फाटक के पास निवासी नन्दलाल जाट (35) और विश्राम चौधरी (45) को गिरफ्तार कर लिया, जबकि तीसरा आरोपित राकेश जाट फिलहाल फरार है।

Narendra Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned