kishangrh_लापरवाही से कही टूट ना जाए कोरोना का संक्रमण चक्र

लापरवाही पड़ ना जाए भारी
परचुनी और सब्जियोंं की दुकानों पर रहने लगी भीड़

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़.
कोरोना वायरस के संक्रमण चक्र को तोडऩे के लिए लागू गए देशभर में लॉकडाउन को की कोशिशों को भी बाजार में हो रही भीड़ नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में सभी लोगों को भीड़ एकत्र करने से बचना चाहिए और बहुत जरुरी होने पर ही जरुरी खाद सामग्री खरीने के लिए बाजार जाए। अन्यथा अपने अपने घर पर ही रहे।
इन दिनों किशनगढ़ के बाजार में खाद सामग्री खरीदने के लिए परचुनी और सब्जी मंडी मेंं लोगों की खासी भीड़ नजर आ रही है। लोगों की भीड़ खरीदारी के लिए बाजार जा रही है। जबकि प्रशासन की ओर से बहुत जरुरी होने पर ही बाजार जाने का आग्रह किया गया है। इसके बावजूद परचुनी और सब्जी मंडी में लोगों की भीड़ अधिक है।
खाद सामग्री की हो रही कालाबाजारी
लोग अनजाने में फीजूल मेंं बाजारोंं की ओर तरफ दौड़ रहे है और खरीदारी करने लगे है। ग्राहकों की भीड़ की देखते हुए कई जगह कई खाद वस्तुओं समेत मेडिकल उत्पाद जैसे सेनेटाइजर, मास्क इत्यादि वस्तुओं के मनचाहे दाम भी वसूले जा रहे है। हालांकि प्रशासन का इस ओर भी ध्यान बना हुआ है और प्रशासन की ओर से ऐसे विक्रेताओं पर कभी भी कार्रवाई की गाज गिर सकती है।
पास के लिए भीड़
प्रशासन ने आपातकालीन परिस्थिति में यदि किसी को आवश्यक रूप से बाहर जाना हो तो उसके लिए पास बनाने की व्यवस्था भी की गई है। ताकि आपातकालीन परिस्थिति में किसी को कोई जनहानि का नुकसान नहीं हो। निजी वाहनों के लिए जिला परिवहन कार्यालय में जगह चिन्हित की गई है। जिला परिवहन अधिकारी राधेश्याम शर्मा ने बताया कि देशभर में लॉकडाउन की घोषणा के चलते बुधवार को किशनगढ़ से बाहर जाने वाले निजी वाहनों की स्वीकृति के लिए करीब 200 एप्लीकेशन मिली। इनमें से आपातकालीन स्थिति को मद्देनजर रखते हुए ही एप्लीकेशन को स्वीकृति दी गई। यह एप्लीकेशन ऑनलाइन भी आवेदन की जा सकती है। इसी प्रकार सरकारी वाहनों के लिए तहसीलदार कार्यालय में यह कार्य किया जा रहा है और इसके लिए तहसीलदार मोहनसिंह को अधिकृत किया गया है। यहां भी पास लेने वाले आवेदनकत्र्ताओं की भीड़ रही।

kali charan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned