kishangarh_तिलोनिया में पैंथर होने की आशंका

-वन विभाग ने लगाया पिंजरा, निगरानी टीम गठितग्रामीणों में फैली घबराहट

हरमाड़ा

निकटवर्ती ग्राम तिलोनिया में बीती रात किसी हिंसक जानवर ने एक बाडे में घुसकर एक बकरी को मार डाला। इसके पैंथर होने की आशंका है। इसको देखते हुए वन विभाग ने यहां पिंजरा भी लगा दिया है और हिंसक जानवर पर निगरानी रखने के लिए टीमे तैनात कर दी है। तिलोनिया सरपंच नंदलाल भादू ने बताया कि 1 दिन पूर्व यहां पैंथर को घूमते देखा गया था जिसकी सूचना वन विभाग को दे दी गई मंगलवार दिन में तिलोनिया पहुंची वन विभाग की टीम ने उसके पद चिन्हों के आधार पर खोज की है उसको पकडऩे का प्रयास भी किया परंतु वह कहीं दिखाई नहीं दिया। मंगलवार रात को ही तिलोनिया निवासी गणेश सगडोलिया के बाडे में चारदीवारी फांद कर वह जानवर अंदर घुसा और एक बकरी को मार दिया। सुबह पता लगने पर ग्रामीण एकत्रित हुए एवं वन विभाग की टीम को बुलाया। बुधवार दिन में भी पैंथर की खोज की गई परंतु कहीं नजर नहीं आया। वन विभाग के अनुसार यह जानवर तिलोनिया स्थित पहाड़ी के ऊपर चला गया है एवं रात को ही शिकार के लिए नीचे आएगा। इसलिए इसे पकडऩे के लिए तिलोनिया में पिंजरा लगाया गया हैं। साथ ही ग्रामीणों ने भी अपने स्तर पर कई जगह लकडिय़़ां जलाकर दूर रखने का प्रयास किया है। आसपास के गांवों में भी इन 15 दिनों में इसके कई बार पदचिन्ह देखे गए इसको लेकर आसपास के गांव में इसका खौफ बरकरार है। इस समय फसल कटाई का मौसम होने के कारण लोग खेतों में काम करते हैं परंतु इसके चलते लोग घरों से निकलने से कतराते हैं।इनका कहना है-पदचिन्हों के आधार पर पैंथर के होने की संभावना है। इस कारण ग्रामीणों को घरों में रहने के लिए कहा है। विभाग की ओर टीमे गठित करते हुए पिंजरा लगाया गया है।-अमरसिंह चौधरी, रेंजर, वन विभाग, किशनगढ़।

kali charan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned