बिजली के बिलों से लगा करंट

ज्यादा बिजली के बिलों को लेकर ग्रामीणों जताई नाराजगी
सहायक अभियंता कार्यालय में किया प्रदर्शन
बिना समस्या के हल के निराश लौटे ग्रामीण

By: kali charan

Published: 10 Aug 2020, 08:52 PM IST

मदनगंज-किशनगढ़.
विद्युत वितरण निगम की ओर से भेजे जा रहे बिजली को लेकर शहरी उपभोक्ता के साथ ही ग्रामीण उपभोक्ता भी खासे परेशान है। बांदरसिंदरी, बरना और खेड़ाकर्म शैतान गांव के ग्रामीणों ने बिजली के बिल ज्यादा आने की शिकायत लेकर ग्रामीण एरिया के अजमेर रोड स्थित सहायक अभियंता कार्यालय में सोमवार को बिजली के बिलों के साथ विरोध प्रदर्शन भी किया। लेकिन ग्रामीणों को कोई संतोषजनक जबाव नहीं मिलने पर वह निराश ही लौट गए।
तीनों गांवों के हरीप्रसाद सिंघारिया, रमेश, बनवारी, करणसिंह, सीताराम, सरदार, भवानी शंकर, सुवालाल, सीताराम, रामकरण सुरेश, राजेन्द्र सोनी, नोरत माली एवं त्रिलोक बैरवा समेत करीब 40-50 ग्रामीण एकत्र होकर सहायक अभियंता कार्यालय पहुंचे। हरीप्रसाद सिंघारिया ने बताया ग्रामीण क्षेत्रों के ज्यादातार उपभोक्ताओं के 2 से 2500 रुपए की राशि अधिक बिजली के बिलों में जुड़ कर आई है। जबकि मीटरों में खपत यूनिट भी बिल राशि के अनुरूप नहीं है। ऐसे में कोरोना जैसी महामारी के समय में रोजगार की समस्या है और वहीं दूसरी तरफ बिजली के बिल ज्यादा भेजे जा रहे है। इस स्थिति में यह बिजली के बिल जमा कराने में ग्रामीणों को दिक्कत महसूस हो रही है। ग्रामीणों का कहना है कि वह इस संदर्भ में सहायक अभियंता कार्यालय में गए। लेकिन यहां सहायक अभियंता के मौजूद नहीं होने के कारण वह कर्मचारियों से मिल कर बिजली के बिल दिखाए और अपनी समस्याएं रखी। इस पर कर्मचारियों ने उन्हें भेजे गए बिजली के बिल अनुमानित खपत के अनुरूप तैयार किए गए है और यह बिल राशि जमा करानी होगी। काफी देर तक सहायक अभियंता के नहीं आने पर आखिरकार ग्रामीणों का शिष्टमंडल मायूस ही लौट गया।

बताई बिजली बिलों की समस्या
मदनगंज-किशनगढ़
ग्राम पंचायत कुचील में बिजली के बिल अधिक आने के संबंधि ग्रामीणों ने विद्युत निगम के जीएसएस पर प्रदर्शन किया। सरपंच शाहिद खान के नेतृत्व में ग्रामीणों ने मांग की बिलों से संबंधित समस्या का समाधान किया जाए। इस पर सहायक अभियंता भंवरसिंह चौधरी ने उचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।

kali charan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned