बाहरी और ग्रामीण भक्तों को नहीं मिलेगा निम्बार्क पीठ में प्रवेश

निम्बार्क तीर्थ सलेमाबाद निम्बार्क पीठ में होने वाले दो दिवसीय कार्यक्रम में नहीं होगी भक्तों की भीड़ शामिल
किशनगढ़ एसडीओ राजेंद्रसिंह ने जारी किए आदेश

By: kali charan

Updated: 11 Aug 2020, 08:23 PM IST

मदनगंज-किशनगढ़.
निम्बार्क तीर्थ सलेमाबाद स्थित निम्बार्काचार्य पीठ में बुधवार से होने वाले दो दिवसीय कृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव कार्यक्रम में बाहरी और ग्रामीण भक्ता शामिल नहीं हो पाएंगे। बुधवार को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव एवं गुरुवार को नंद महोत्सव के दो दिवसीय धार्मिक विधान अनुसार कार्यक्रम और अनुष्ठान आयोजित होने है। सरकार की एडवायजरी की पालना को लेकर किशनगढ़ एसडीओ राजेंद्रसिंह ने मंदिर प्रबंधन और ट्रस्ट को यह आदेश भी जारी कर दिए है।
निम्बार्क तीर्थ सलेमाबाद स्थित अखिल भारतवर्षीय निम्बार्काचार्य पीठ के अध्यक्ष / न्यासी और अजमेर देवस्थान विभाग के सहायक आयुक्त ने इस संदर्भ में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महोत्सव के दौरान श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों की अत्यधिक संख्या में एकत्रत होने की सम्भावना भी जताई है। लेकिन कोविड-19 वैश्विक महामारी के प्रकोप की रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने अनलॉक-0.3 के आदेश के तहत जारी गाइडलाइन के अनुसार ग्रामीण क्षेत्रों में पूजा स्थल/मंदिर परिसर में केवल 50 व्यक्तियों तक को प्रवेश और आवागमन की सशर्त अनुमति प्रदान की गई है। ऐसे में राज्य सरकार की गाइडलाइन अनलॉक-0.3 की पालना और कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव एवं 13 अगस्त को नन्द महोत्सव के कार्यक्रमों में तीर्थ परिसर में बाह्य श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों के साथ ही ग्रामीणभक्तों के प्रवेश को प्रतिबंधित किया गया है। श्रीकृष्ण जन्मोत्सव एवं नन्द महोत्सव के दो दिवसीय धार्मिक विधान अनुसार कार्यक्रम एवं अनुष्ठान को निम्बार्काचार्य पीठ के श्रीजी महाराज, आश्रम के ब्रह्मचारी एवं निम्बार्काचार्य पीठ के नियमित पूजारीगण और सेवक ही कर सकेंगे। एसडीओ सिंह ने आदेश जारी कर कोविड-19 प्रोटोकॉल व राज्य सरकार की जारी गाइडलाइन की पूर्ण पालना सुनिश्चित करने के लिए मंदिर प्रबंधन और ट्रस्ट को आदेश भी दिए है। राज्य सरकार की गाइडलाइन अनलॉक-0.3 की पालना और कोविड-19 के संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए 12 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव एवं 13 अगस्त को नन्द महोत्सव के कार्यक्रमों में तीर्थ परिसर में बाह्य श्रद्धालुओं और दर्शनार्थियों के साथ ही ग्रामीणभक्तों के प्रवेश को प्रतिबंधित किया गया है।

kali charan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned