घरों में बत्ती गुल और सड़कों पर बर्बादी फुल

फिर भी दिनभर जलती है रोड लाइटें
कोयले की कमी से उपजे बिजली संकट की भी अनदेखी
मुख्यमंत्री की समझाइश भी बेअसर

By: kali charan

Published: 11 Oct 2021, 07:46 PM IST

मदनगंज-किशनगढ़ ञ्च पत्रिका.
कोयले की कमी से भले ही प्रदेशभर में बिजली का संकट बना हुआ है और शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों की बिजली कटौती की जा रही है। लेकिन किशनगढ़ नगर परिषद प्रशासन को इसकी कोई परवाह नहीं है। मुख्यमंत्री की ओर से बिजली बचाने के आग्रह के बावजूद किशनगढ़ में कई जगह इन दिनों भी दिनभर रोड लाइटें जलती रहती है। इन सरकारी पोलों पर दिनभर रोड लाइटों के जलने से कई मेगावॉट बिजली व्यर्थ में बर्बाद हो रही है।
कोयले की कमी के संकट से प्रदेशभर में बने बिजली कटौती के हालात के बावजूद किशनगढ़ के नगर परिषद क्षेत्र की सिंधी कॉलोनी, चमड़ाघर एवं राम मंदिर के पास विद्युत पोलों पर रोड लाइटें सुबह से शाम तक जलती रही। लेकिन ना तो इन्हें बंद किया गया और ना ही इनके टाइमर स्वीच को ठीक करवाया जा रहा है। यहीं वजह है कि इन क्षेत्रों के साथ ही नगर के शहरी क्षेत्र में कई जगह विद्युत पोलों पर लगी रोड लाइटें फीजूल में सुबह से शाम तक जलती रहती है। शहरी क्षेत्र के मुख्य मार्गों और गली मोहल्लों की रोड लाइटों की देखभाल इत्यादि कार्य परिषद प्रशासन का है। लेकिन इस तरह व्यर्थ हो रही बिजली की खपत को नहीं रोका जा रहा है। लेकिन शहरी क्षेत्र में सुबह 7 बजे से सुबह 9 बजे तक विद्युत विभाग ने कटौती शुरू कर दी है।

kali charan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned