गर्मी के साथ लू की आशंका बढ़ी

गर्मी के साथ लू की आशंका बढ़ी

Kali Charan kumar | Updated: 07 May 2019, 09:33:36 PM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

मदनगंज-किशनगढ़. नगर सहित आस-पास के क्षेत्रों में गर्मी बढऩे के साथ ही लू-ताप लगने की आशंका बढ़ती जा रही है। चिकित्सालय में इससे पीडि़त दो-चार मरीज पहुंचने लगे है। तापमान में बढ़ोत्तरी होती जा रही है। गर्म तेज हवा चलने से लू लगने की संभावना बनी रहती है। इसमें गर्मी में देर तक रहने वाले और खासकर वो जो इस गर्मी में मेहनत का काम करते है इसकी चपेट में आते हैं। लू लगने से शरीर में पानी की कमी के कारण शरीर का तापमान बढऩे लग जाता है। इससे सिरदर्द, बुखार, उल्टी, अत्यधिक पसीना एवं बेहोशी आने लग जाती है। चिकित्सालय में लू-ताप के मरीज पहुंचने लगे है, हालांकि अभी इनकी संया काफी कम है, लेकिन आगामी दिनों में गर्मी बढऩे के साथ इसके मरीजों की संया में बढऩे से इंकार नहीं किया जा सकता है। चिकित्सा विभाग ने लू से बचने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

लू से बचाव के लिए क्या करें
- घर से बाहर निकलने के पहले भरपेट पानी अवश्य पिएं।
- सूती, ढीले एवं आरामदायक कपड़े पहनें। धूप में निकलते समय अपना सिर ढंककर रखे।
- पानी, छाछ, ओआरएस का घोल का घर में बने पेय पदार्थ जैसे-लस्सी, नीबू पानी, आम का पना इत्यादि का सेवन करें।
- भरपेट भोजन करके ही घर से निकले , धूप में अधिक न निकले।
यह है लू के लक्षण
- सिरदर्द, बुखार, उल्टी, अत्यधिक पसीना एवं बेहोशी आना, कमजोरी महसूस होना, शरीर में एठन, नब्ज असामान्य होना।
क्या न करें
- धूप में खाली पेट ने निकलें, पानी हमेशा साथ में रखें। शरीर में पानी की कमी ना होने दें।
- धूप में निकलने के पूर्व तरल पदार्थ का सेवन करें।
- मिर्च मसाले युक्त एवं बासी भोजन न करें।
- बुखार आने पर ठंडे पानी की पट्टियां रखे।
- कूलर एवं एयर कंडीशन से धूप में एकदम न निकलने।
ध्यान रखें लू के लक्षण हो तो
- व्यक्ति को छायादार जगह पर लिटाएं।
- व्यक्ति के कपड़े ढ़ीले करें।
- उसे पेय पदार्थ कच्चे आम का पना आदि पिलाएं।
- तापमान घटाने के लिए ठंडे पानी की पट्टियां रखें।
- प्रभावित व्यक्ति को तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में ले जाकर चिकित्सकीय परामर्श लें।
इनका कहना है...
गर्मी बढऩे के साथ ही लू की आंशका बढ़ जाती है। घर से खाली पेट बिल्कुल नहीं निकलना चाहिए। लू से बचाव के लिए आवश्यक उपाय किए जाने चाहिए।
- डॉ. स्वाति शिन्दे, ब्लॉक मुय चिकित्सा अधिकारी किशनगढ़

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned