ऑनलाइन डाटा फिडिंग बना मुसीबत

राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय

दवा पर्ची में हो रही देरी

मरीज हो रहे परेशान

मदनगंज-किशनगढ़ (अजमेर).

ऑफ लाइन बंद कर अभी हाल ही में शुरू हुई ऑनलाइन दवा पर्ची सिस्टम के सॉफ्ट वेयर में डाटा एंट्री प्रोसेस मरीजों के लिए मुसीबत बन गया है। डाटा एंट्री की लम्बी प्रक्रिया के कारण राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय के मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा पर्ची काउंटर पर सोमवार को मरीजों को खासी परेशानी झेलनी पड़ी। डेढ़ घंटे की परेशानी और मरीजों की लम्बी कतारें लगने के बाद आखिरकार ऑफ लाइन प्रक्रिया से ही मरीजों को दवा पर्ची वितरित की गई। तब जाकर मरीजों को राहत मिली और उन्होंने पर्ची से चिकित्सक परामर्श लिया।

सरकारी अस्पतालों में एक अक्टूबर से दवा पर्ची के ऑनलाइन डाटा फिडिंग कार्य शुरू होने के साथ ही यज्ञनारायण चिकित्सालय में भी यह व्यवस्था शुरू की गई। लेकिन ऑनलाइन डाटा फिडिंग की लम्बी प्रक्रिया, दस्तावेजों की एंट्री और आए दिन सर्वर डाउन इत्यादि के कारण दवा पर्ची वितरण कार्य में बाधा उत्पन्न होने लगी है। इसी प्रकार सोमवार को सुबह १० बजे आउड डोर समय में पर्ची की ऑनलाइन डाटा फिडिंग एंट्री में तकनीकी रूप से होने वाली परेशानी के कारण मरीजों को धीमी गति से दवा पर्ची वितरण की गई। इसकी वजह से पर्ची काउंटर पर कुछ ही देर मेें लम्बी भीड़ लग गई।

सूचना मिलने पर पीएमओ डॉ. अशोक जैन ने तत्काल ऑफ लाइन से पर्ची वितरण शुरू करने के निर्देश दिए। तब जाकर मरीजों को समय पर दवा पर्ची वितरित की गई और काउंटर पर मरीजों की भीड़ कम हुई। काउंटर पर काम कर रहे ऑपरेटर ने बताया कि एक पर्ची की ऑनलाइन डाटा एंट्री में करीब एक मिनट का समय लगता है और यदि इस बीच सर्वर डाउन होने या अन्य तकनीकी परेशानी के चलते इससे भी अधिक समय जाया हो जाता है। यहीं वजह है कि मरीजों की लम्बी कतारें लग जाती है।

Narendra
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned