अंकुरण नहीं हुआ उनमें फिर बीजारोपण

अंकुरण नहीं हुआ उनमें फिर बीजारोपण

Kali Charan kumar | Updated: 24 Apr 2019, 08:14:43 PM (IST) Kishangarh, Ajmer, Rajasthan, India

वन विभाग की नर्सरी में एक लाख से अधिक पौधे किए जा रहे हैं तैयार
नर्सरी में जिन थैलियों में अुंकरण नहीं हुआ उसमें किया जा रहा बीजारोपण

 

किशनगढ़. नगर के चिडिय़ा बावड़ी स्थित वन विभाग की नर्सरी में एक लाख से अधिक पौधे तैयार किए जा रहे हैं। नर्सरी में अब जिस थैली में अुंकरण नहीं हुआ है उनमें फिर से बीजारोपण किया जा रहा है। वन विभाग की नर्सरी में 75 हजार और बनवेड़ी पौधशाला में 30 हजार पौधे तैयार किए जा रहे हैं। इसके लिए थैलियों में बीजारोपण और कलम रोपण का कार्य पहले ही पूरा हो गया है। थैलियों में अब अंकुरण होने लगा है। नर्सरी में जिन थैलियों में अंकुरण नहीं हो रहा है।

विभिन्न मद में तैयार होंगे पौधे
नर्सरी में 1 लाख 5 हजार पौधे से अधिक पौधे तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें फार्म वन विद्या, जैव विविधता, राजनीधि एवं कैपा योजना के तहत पौधे तैयार किए जा रहे हैं। जुलाई में होता है पौधों का वितरण
वन विभाग में फलदार, छायादार, फूलदार और शोपिस पौधों तैयार किए जाते हैं। उक्त पौधों की बिक्री जुलाई माह में प्रारंभ होती है। जब तक बारिश का सीजन भी शुरू हो जाता है। पौधे स्वयं सेवी संगठन और सरकारी कार्यालय में निर्धारित राशि पर उपलब्ध कराए जाते हैं, वहीं आमजन से पांच रुपए प्रति पौधे लिए जाते हैं। इसमें कैपा आदि योजना की राशि अधिक होती है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned