आखिर कब सुधरेंगे सरकार के डॉक्टर

आउट डोर समय में चैम्बरों के बाहर डॉक्टर का इंतजार करते रहते है मरीज
उपखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल में अव्यवस्थाओं का आलम
मरीज होते परेशान

मदनगंज-किशनगढ़.
उपखंड के सबसे बड़े राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय में चिकित्सा व्यवस्था पटरी पर नहीं है। ना तो आउट डोर समय में चिकित्सक कक्ष खुलते है और ना पूरे समय कक्ष में डॉक्टर बैठते। ऐसे में मरीज घंटोंं कक्षों के बाहर इंतजार करते रहते है और अंत में निराश होकर लौट जाते है। लेकिन दूर दराज से आने वाले मरीजों की परेशानियों की अस्पताल प्रबंधन को कोई परवाह नहीं है।
समय पर अस्पताल पहुंचने और हाजरी के लिए सरकार ने जब से बायोमेट्रिक व्यवस्था लागू की है तब से ही डॉक्टर सुबह जैसे तैसे हॉस्पिटल पहुंच कर अपनी उपस्थिति तो ऑनलाइन दर्ज करवा लेते है, लेकिन इसके बाद वह बेफ्रीक होकर आउट डोर समय में इत्मिनान से अपने साथी चिकित्सकों से घंटों दूसरे कक्षों में बतीयाते रहते है। उधर आउट डोर समय में कई कक्ष तो बंद ही रहते है और कुछ खुल जाते है तो उनमें समय पर डॉक्टर नहीं बैठते। जबकि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों से आए मरीज इन डॉक्टरों का कक्षों के बाहर इंतजार करते रहे है। अधिकांश बार तो कई डॉक्टर आउट डोर का समय पूरा होने के बाद तक कक्षोंं में आते तक नहीं है। सोमवार को आउट डोर समय कई चिकित्सक कक्ष बंद मिले तो कई डॉक्टर नदारद मिले।
कक्ष संख्या 13 : सुबह 10.30 बजे
डॉक्टर जागिर हुसैन के कमरा सं?या 13 के दरवाजे बंद मिले और बाहर मरीज बैठे मिले। मरीजों का कहना है कि वह सुबह 9 बजे से बैठे डॉक्टर का इंतजार कर रहे है। लेकिन कोई डॉक्टर नहीं आया।
कक्ष संख्या 19 : सुबह 10.35 बजे
डॉक्टर अमित शर्मा और डॉक्टर अमित लाम्बा का कक्ष सं?या 19 बंद मिला और मरीज इधर उधर इन्हें ढंूढते नजर आए।
कक्ष संख्या 18 : सुबह 10: 40 बजे
डॉक्टर सुरेंद्र कुमार का कक्ष सं?या 18 खुला मिला। यहां वह मरीजों को परामर्श देते मिले और मरीजों की कतार नजर आई।
कक्ष संख्या 1 : सुबह 10.43 बजे
कक्ष संख्या 1 खुला मिला और भीतर मरीज बैठे मिले। यहां पर डॉक्टर की कुर्सी खाली मिली। कुछ देर बाद डॉक्टर के.के. तनवानी कक्ष की तरफ आते दिखाई दिए। वह बाद में कक्ष में जाकर बैठे और मरीजों का परामर्श दिया।
यह है आउट डोर समय
सुबह 9 बजे से दोपहर 1 बजे तक
शाम 4 बजे से शाम 6 बजे तक

इनका कहना है...

सभी चिकित्सकों को आउट डोर समय में अपने कक्षों में मरीज देखने के आदेश जारी है। यदि कोई चिकित्सक अपने कक्ष में नहीं बैठ रहा और मरीज नहीं देख रहा तो यह गंभीर बात है। शिकायत मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी।

-डॉ. अशोक जैन,पीएमओ, राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय, किशनगढ़।

kali charan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned