scriptIncreased prices of raw materials, know food and fertilizer rates | रूस-यूक्रेन युद्ध से बढ़े कच्चे माल के दाम, जानें इस बार किस रेट में मिलेगा खाद् और उर्वरक | Patrika News

रूस-यूक्रेन युद्ध से बढ़े कच्चे माल के दाम, जानें इस बार किस रेट में मिलेगा खाद् और उर्वरक

रूस-यूक्रेन के कारण इंटरनेशनल लेवल पर खाद और उर्वरकों के कच्चे माल के दामों में बढ़ोतरी हो गई है.

कोलार

Updated: May 21, 2022 04:17:43 pm

भोपाल. रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण इंटरनेशनल लेवल पर खाद और उर्वरकों के कच्चे माल के दामों में बढ़ोतरी हो गई है, ऐसे में उम्मीद थी कि खरीफ सीजन में किसानों को बड़े हुए दामों पर खाद और उर्वरक मिलेगा, लेकिन केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ी राहत दी है, उन्हें इस सीजन में भी खाद और उर्वरकों के दाम पहले समान ही देना पड़ेंगे।

kisan.jpg


जानकारी के अनुसार खाद्, उर्वरकों का निर्माण करने वाली कंपनी इफ्को ने नई रेट लिस्ट जारी कर दी है, किसानों को निम्न दामों पर खाद और उर्वरक मिल सकेगा, ये दाम उन किसानों के लिए हैं, जो सोसायटी से जुड़े हैं और उन्हें सब्सिडी पर खाद और उर्वरक मिलते हैं।

यूरिया - 266.50 रुपये प्रति बैग (45 किलो)
डीएपी -1,350 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
एनपीके -1,470 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
एमओपी -1,700 रुपये प्रति बैग (50 किलो)


कई देशों में बढ़ गए उर्वरकों के दाम
रूस और यूक्रेन युद्ध के कारण इंटरनेशनल लेवल पर कच्चे माल के दाम बढऩे का असर कई देशों में देखने को मिल रहा है, कच्चे माल के दाम बढ़ जाने के कारण विभिन्न देशों में खाद और उर्वरकों के दामों ने भी आसमान छू लिया है, हालांकि भारत को इस महंगाई से सरकार ने राहत दी है। ऐसे में किसानों को खरीफ सीजन में खाद् और उर्वरकों को खरीदने में किसी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

यह भी पढ़ें : 1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्स

देश में साल 2020-21 में यूरिया का 98.28 लाख टन, डीएपी 48.82 लाख टन, एनपीके 13.90 लाख टन और एमओपी 42.27 लाख टन आयात किया गया था। संभवता इस बार भी इतना ही खाद और उर्वरक लगने की संभावना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

ओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानिभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें List
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.