सीमा में घुसने के दौरान 104 बांग्लादेशी गिरफ्तार

सीमा में घुसने के दौरान 104 बांग्लादेशी गिरफ्तार

सीमा में घुसने के दौरान 104 बांग्लादेशी गिरफ्तार

- कार्रवाई : इस वर्ष गिरफ्तार घुसपैठियों की संख्या 1815 पहुंची
- एनआरसी के भय से सीमा पार कर भाग रहे थे लोग

कोलकाता

एनआरसी के भय से देश के विभिन्न हिस्सों में काम करने वाले 104 बांंग्लादेशी घुसपैठियों को बीएसएफ के जवानों ने बांग्लादेश सीमा में घुसने के दौरान ही बनगांव से शुक्रवार देर रात को गिरफ्तार कर लिया। इनको बनगांव कोर्ट में शनिवार को पेश किया गया।

पूछताछ के दौरान बताया कि गरीबी के कारण वे हैदराबाद व महाराष्ट्र में घरेलू नौकर के रूप में काम करते थे। जहांं एनआरसी के डर से वापस अपने घर बांगलादेश लौट रहे थे। इस दौरान बनगांव के घोरा मैदान से उनको शुक्रवार देर रात गिरफ्तार किया गया है। इसके पूर्व बीएसएफ के दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने पिछले दो दिन में अंतरराष्ट्रीय सीमा से 42 घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। इनमें 14 को गुरुवार देर रात को गिरफ्तार किया गया है। जबकि 28 को बुधवार रात को गिरफ्तार किया गया था। बीएसएफ के अधिकारियों का कहना है कि इसके अलावा बड़ी संख्या में कफ सिरप की बोतलें और बांग्लादेशी मुद्रा भी जब्त की गई।

----
इस साल अब तक १८१५ घुसपैठी गिरफ्त में

इस साल अब तक इस साल शनिवार तक 1815 घुसपैठियों को गिरफ्तार किया गया है। यह छापामारी अभियान आगे भी जारी है। इसके अलावा पुलिस ने बसीरहाट व गाईघाटा थाना इलाके से दो-दो घुसपैठियों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास कोई दस्तावेज नहीं था। वे बिना दस्तोवज के ही पश्चिम बंगाल की सीमा में प्रवेश कर गए थे।

---

28.50 लाख बांगलादेशी मुद्रा जब्त

बीएसएफ ने बताया कि दक्षिण बंगाल फ्रंटियर के जवानों ने सीमावर्ती नदिया जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर मुद्रा तस्करी को नाकाम करते हुए 28.50 लाख की बांग्लादेशी मुद्रा जब्त की गई है। जब्त बांग्लादेशी मुद्रा का मूल्य भारतीय बाजार में 23,94 रुपए हैं। बीएसएफ ने बताया कि गुप्त सूचना पर कार्रवाई करते हुए कृष्णनगर सेक्टर मुख्यालय अंतर्गत बीओपी महाखोला पर तैनात 81वीं बटालियन के जवानों ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास से इसे जब्त किया। अंधेरे का लाभ उठाकर तस्कर भागने में सफल रहे। उनकी तलाश की जा रही है।

Nirmal Mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned