गंगासागर में 20 लाख उमड़ेंगे श्रद्धालु

मकर संक्रांति पर गंगासागर मेले में इस बार 20 लाख पुण्यार्थियों की भीड़ जुटने की संभावना है। मेले का आगाज 9 जनवरी को होगा।

By: Prabha

Updated: 04 Jan 2018, 08:37 PM IST

गंगासागर में 20 लाख उमड़ेंगे श्रद्धालु

- सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध, पुलिस, नौसेना, तटरक्षक व बीएसएफ मुस्तैद
- नवान्न व अलीपुर से गंगासागर मेले की होगी लाइव निगरानी

कोलकाता. मकर संक्रांति पर गंगासागर मेले में इस बार 20 लाख पुण्यार्थियों की भीड़ जुटने की संभावना है। मेले का आगाज 9 जनवरी को होगा। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देशानुसार राज्य के मंत्री, सरकारी उच्चाधिकारी तथा विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं के लोग 17 जनवरी तक मेला क्षेत्र में डटे रहेंगे। पिछले साल 15 लाख श्रद्धालुओं के आने का लक्ष्य रखा गया था। मेला क्षेत्र में पुण्यार्थियों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है। एक तरफ जहां सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर, अग्निशमन, चिकित्सा, साफ-सफाई के अलावा पर्याप्त संख्या में मोबाइल शौचालय की व्यवस्था की जा रही है। माना जा रहा है कि इस साल कुम्भ मेला नहीं होने के कारण मकर संक्रांति पर गंगासागर मेले में अधिक भीड़ होने की उम्मीद है। राज्य प्रशासन ने पुण्यार्थियों की सुरक्षा के लिए तीर्थ साथी और सागर संयोग नामक दो अलग अलग व्यवस्था की है। दक्षिण 24 परगना जिला के कलक्टर वाई. रत्नाकर राव ने गुरुवार को संवाददाताओं को यह जानकारी देते हुए बताया कि मेले की सुरक्षा तथा पुण्यार्थियों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। कोलकाता से लॉट संख्या 8 (काकद्वीप) तक करीब 98 किमी. की दूरी वाले रास्ते पर चप्पे चप्पे पर पुलिस तैनात रहेगी। सड़क और जल परिवहन पर विशेष नजर रखी जाएगी। राज्य सचिवालय नवान्न व अलीपुर से गंगासागर मेले की लाइव निगरानी की जाएगी।
बीएसएनएल की विशेष व्यवस्था

मेला क्षेत्र में संचार व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए बीएसएनएल ने अत्याधुनिक सैटेलाइट फोन विकसित किया है। जो प्रशासन के 16 महत्वपूर्ण अधिकारियों के हाथों में होगा। बीएसएनएल कोलकाता के महाप्रबंधक एस.के. दे के अनुसार देश में इस तरह का सैटेलाइट फोन गंगासागर मेले में पहली बार इस्तेमाल किया जा रहा है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned