21 वर्षीय युवक के हृदय से 13 साल के किशोर को मिली नई जिंदगी


- हुआ हार्ट ट्रांसप्लांट, 3 और लोगों को मिलेगें मृतक के अंग

By: Renu Singh

Published: 03 Mar 2021, 07:35 AM IST

कोलकाता

फिर से एक बार महानगर में मंगलवार को अंगदान की अनोखी मिसाल सामने आई हैं। 21वर्षीय मृत युवक के हृदय का सफल प्रत्यारोपण 13 साल के एक किशोर में किया गया। इसके साथ ही मृत युवक के यकृत, गुर्दे और कॉर्निया के प्रत्यारोपण का निर्णय लिया गया है। इन्हें अन्य मरीजों में प्रत्यारोपण के लिए दूसरे अस्पतालों में भेजा गया है।मंगलवार को नारायणा सुपरस्पेशेलिटी अस्पताल (एनएसएच) हावड़ा में हार्ट ट्रांसप्लांट किया गया। यह हार्ट ट्रांसप्लांट पूर्वी क्षेत्र का सबसे कम उम्र के मरीज़ में किया है। शहर के एक निजी अस्पताल द्वारा एक 21 वर्षीय युवक वासुदेव अधिकारी को ब्रेन डेड घोषित कर दिया गया था। वासुदेव की मौत के बाद डॉक्टरों ने उसके परिजनों को अंगदान का सलाह दी। परिजनों ने त्वरित निर्णय लेते हुए हामी भरी। वासुदेव के हृदय को 13 वर्षीय लड़के के लिए दिया गया जिसका नारायणा सुपरस्पेशेलिटी अस्पताल, हावड़ा में इलाज चल रहा था। डॉक्टर देबाशीष दास, सीनियर कंसल्टेंट-कार्डियोथोरेसिक सर्जरी एंड हार्ट ट्रान्स्प्लान्ट सर्जन ने बताया कि मरीज़ एब्स्टीन एनोमली से पीड़ित है जो कि एक प्रकार का जन्मजात हृदयरोग है और जिसे आम तौर पर आधुनिक वाल्व रिपेयर सर्जरी से ठीक किया जाता है। भर्ती होने के समय बच्चे की स्थिति बहुत नाज़ुक थी। उसके केस में मरीज़ को बीमारी के अंतिम स्टेज पर गंभीर बायवेंट्रीकुलर डिसफंक्शन के साथ लाया गया। उसका इलाज जारी था। हालाँकि उसकी स्थिति में सुधार नहीं हुआ और उसकी स्थिति बिगड़ती चली जा रही थी और हार्ट की पंप करने की क्षमता इतनी कमज़ोर पड़ गई कि वह अपनी दैनिक क्रियाएं भी ठीक से करने में सक्षम नहीं था।

ग्रीन कॉरिडोर से 16 मिनट में हावड़ा पहुँचा हृदय

हृदय प्रतिस्थापन के लिए मंगलवार को शहर में पुलिस की ओर ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। हृदय को सॉल्टलेक के एक निजी अस्पताल से मंगलवार दोपहर को ग्रीन कॉरिडोर के माध्यम से हावड़ा आंदुल रोड पर एक निजी अस्पताल में लाया गया। हावड़ा सिटी पुलिस और कोलकाता पुलिस ने 18 किमी के ग्रीन कॉरिडोर का निर्माण किया है। मालूम हो कि पश्चिम मिदनापुर जिले के बादलपुर के निवासी बासुदेव अधिकारी की कल कोलकाता के एक निजी अस्पताल में ब्रेन डेथ हो गई। खबर हावड़ा आंदुल निजी अस्पताल में आई। कोलकाता पुलिस व हावड़ा सिटी पुलिस के अथक प्रयास तैयार ग्रीन काॅरिडोर के कारण चार बजे कोलकाता के साल्टलेक से एम्बुलेंस से हृदय को सिर्फ सोलह मिनट में हावड़ा के आंदुल लिया गया।

Renu Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned