तृणमूल को तगड़ा झटका, 5 बागी नेता भाजपा में शामिल

राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को शनिवार रात फिर करारा झटका लगा। राज्य के पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी, विधायक वैशाली डालमिया, उत्तरपाड़ा के विधायक प्रवीर घोषाल, हावड़ा के पूर्व मेयर रथिन चक्रवर्ती, रानाघाट नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष पार्थसारथी चटर्जी और अभिनेता रुद्रनील घोष भाजपा में शामिल हो गए।

By: Rabindra Rai

Published: 30 Jan 2021, 11:09 PM IST

राजनीति: गृह मंत्री शाह की उपस्थिति में थामा भाजपा का दामन
शाह बोले, इनके शामिल होने से बंगाल में बढ़ेगी पार्टी की ताकत
कोलकाता. राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को शनिवार रात फिर करारा झटका लगा। राज्य के पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी, विधायक वैशाली डालमिया, उत्तरपाड़ा के विधायक प्रवीर घोषाल, हावड़ा के पूर्व मेयर रथिन चक्रवर्ती, रानाघाट नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष पार्थसारथी चटर्जी और अभिनेता रुद्रनील घोष भाजपा में शामिल हो गए। केंद्रीय गृह मंत्री और भाजपा नेता अमित शाह ने ट्वीट किया कि इनके शामिल होने से बंगाल में पार्टी की ताकत और बढ़ेगी। पश्चिम बंगाल का दौरा रद्द होने के बाद तृणमूल कांग्रेस के पूर्व नेता राजीव बनर्जी, वैशाली डालमिया, प्रवीर घोषाल, पूर्व मेयर रथिन चक्रवर्ती ने दिल्ली में अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की तथा उनकी उपस्थिति में इन नेताओं ने भाजपा का दामन थाम लिया। इस दौरान पश्चिम बंगाल में भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय मौजूद रहे। पहले ये नेता अमित शाह की उपस्थिति में रैली में भाजपा में शामिल होने वाले थे, लेकिन उनका बंगाल दौरा रद्द होने के बाद पार्टी ने इनको दिल्ली बुला लिया। रविवार को हावड़ा के डुमुरजला में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की सभा में ये सभी मौजूद रहेंगे। डालमिया को हाल ही में तृणमूल कांग्रेस से निष्कासित किया गया है।
--
चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली पहुंचे
शनिवार शाम ये सभी नेता पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के साथ चार्टर्ड प्लेन से दिल्ली पहुंचे। शाम 4.45 बजे अमित शाह की ओर से विशेष विमान भेजा गया था। विमान में सवार होने से पहले राज्य के पूर्व वन मंत्री राजीव बनर्जी ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद भाजपा नेतृत्व ने फोन किया। अमित शाह ने उन्हें दिल्ली आने को कहा। साथ ही शाह ने उनसे उन पांच महत्वपूर्ण जनप्रतिनिधियों तक उक्त संदेश पहुंचाने और अपने साथ लाने का आग्रह किया, जो लोगों की सेवा करना चाहते हैं। वे केन्द्रीय गृह मंत्री को अपनी योजना बताएंगे। अगर शाह उन्हें बंगाल के विकास और उन्हें जनता के लिए बेहतर काम करने का भरोसा दिलाते हैं तो वे भाजपा में शामिल होंगे।
--
मोर्चा खोला था वैशाली ने
हावड़ा के बाली से विधायक वैशाली डालमिया ने भ्रष्टाचार समेत तमाम मुद्दों को लेकर टीएमसी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। उन्होंने कहा था कि यह भ्रष्टाचार टीएमसी को दीमक की तरह खत्म कर रहा है। वैशाली ने दावा किया था कि इस बारे में उन्होंने ममता बनर्जी को भी बताया पर कोई कार्रवाई नहीं की गई। उन्होंने चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कामकाज पर भी सवाल उठाए थे। वैशाली डालमिया भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कद्दावर अध्यक्ष रहे जगमोहन डालमिया की बेटी हैं। पिता के निधन के बाद वर्ष 2016 में वैशाली ने राजनीति में प्रवेश किया। तृणमूल कांग्रेस जॉइन कर उन्होंने बाली विधानसभा सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर विधायक बनीं।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned