कोलकाता में हर महीने होता है 700 करोड़ विदेशी मुद्रा का विनिमय

ईडी की जांच में हुआ सनसनीखेज खुलासा

केन्द्रीय जांच एजेंसी को भारी मात्रा में विदेशों में धन भेजने की शंका

By: Manoj Singh

Published: 18 Dec 2018, 06:09 PM IST

ईडी ने कोलकाता में छापामारी कर प्रति महीने सैकड़ों करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा विनिमय के कारोबार होने का सनसनखेज खुलासा किया है। केन्द्रीय जांच एजेंसी ने 13 दिसंबर को 24 घंटे से अधिक समय तक कोलकाता के व्यवसायिक केन्द्र बड़ाबाजार और पार्क स्ट्रीट सहित अन्य इलाकों के 10 से अधिक विदेशी विमिय किए जाने वाले ठिकानों और हवाला कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी की। छापामारी के दौरान सिर्फ कोलकाता में प्रत्येक महीने औसतन 700 करोड़ रुपए से भी अधिक की विदेशी मुद्रा का विनिमय होने का पता चला, जिसे गैर कानून तरीके से विदेश भेजा रहा था।

कोलकाता

खुफिया सूचना के आधार पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कोलकाता में छापामारी कर प्रति महीने सैकड़ों करोड़ रुपए की विदेशी मुद्रा विनिमय के कारोबार होने का सनसनखेज खुलासा किया है। 13 दिसंबर को 24 घंटे से अधिक समय तक कोलकाता के व्यवसायिक केन्द्र बड़ाबाजार और पार्क स्ट्रीट सहित अन्य इलाकों के 10 से अधिक विदेशी विमिय किए जाने वाले ठिकानों और हवाला कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी की गई। ईडी के सूत्रों ने सोमवार को बताया कि छापामारी के दौरान सिर्फ कोलकाता में प्रत्येक महीने औसतन 700 करोड़ रुपए से भी अधिक की विदेशी मुद्रा का विनिमय होने का पता चला, जिसे गैर कानून तरीके से विदेश भेजा रहा है। विदेशी मुद्रा विनिमय एक्ट (फेमा) के तहत मामला दर्ज कर ईडी अब यह पता लगाने में जुट गई है कि इतनी बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा यहां कौन और कहां से लाते हैं और उसके वैध दस्तावेज है या नहीं। ईडी यह पता लगा रहा है कि इतनी बड़ी रकम का कहीं कोई गलत इस्तेमाल किया जा रहा है या नहीं। इस जांच में ईडी एनआईए और इंटेलिजेंस ब्यूरो की मदद ले रही है। अपना नाम गोपनीय रखने की शर्त पर ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इंटेलिजेंस ब्यूरो की रिपोर्ट के आधार पर उक्त इलाकों में गैरकानूनी तरीके से चल रहे हैं विदेशी मुद्रा विनिमय और हवाला कारोबारियों के ठिकानों पर 13 दिसंबर यानी गुरुवार दोपहर सेे शुक्रवार की सुबह तक ईडी की टीम ने मैराथन छापेमारी के दौरान कोलकाता से 2.30 करोड़ रुपए की भारतीय और विदेशी मुद्रा जब्त किया। इसमें से छापेमारी के दौरान बड़ाबाजार के पोस्ता इलाके में हवाला कारोबारियों के ठिकानों पर छापेमारी के दौरान 1.65 करोड़ भारतीय रुपये बरामद किए गए हैं, जबकि न्यू मार्केट और पार्क स्ट्रीट के विभिन्न फॉरेन एक्सचेंज संस्थाओं पर छापेमारी के दौरान 65 लाख रुपये की अवैध विदेशी मुद्रा जब्त की गई है। ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को बताया कि जिन लोगों ने भी बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा विनिमय कराया है, उनकी सूची तैयार की जा रही है। कोलकाता के 20 से 25 हवाला कारोबारियों की सूची भी तैयार की गई है और उनसे पूछताछ की तैयारी की जा रही है। अपनी पहचान छुपाते हुए ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पिछले सप्ताह गुरुवार को शुरू हुई छापेमारी शुक्रवार को पूरी हुई, जिसमें बरामद दस्तावेजों से कई चौंकानेवाले तथ्य सामने आए हैं। इसमें यह भी पता चला है कि अकेले मई महीने में कोलकाता में 1500 करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा का विनिमय किया गया है, जो संदेह पैदा कर रहा है। इतनी अधिक मात्रा में विदेशी मुद्रा का विनिमय नहीं होना चाहिए। जांच के दौरान मिले सभी तथ्यों की विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर सीमा शुल्क, एनआईए, आईबी और अन्य विभागों को भी भेजा जा रहा है, जिससे भारत में आने वाली विदेशी मुद्रा के आंकड़ों से इसका मिलान कराया जा सके। छापेमारी में कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी ईडी के हाथ लगे हैं जिसमें मनी एक्सचेंज अथवा हवाला कारोबार के जरिए रुपये भेजने वाले लोगों के बारे में खुलासा हो सकता है। पोस्ता मेंं छापेमारी के दौरान ईडी को एक ऐसी डायरी मिली है, जिसमें 20-25 हवाला कारोबारियों के नाम दर्ज हैं। इसे सूचीबद्ध कर ईडी कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है। सोमवार को एडीसी सूत्रों के हवाले से इस बात की पुष्टि की गई है कि कोलकाता और आसपास के क्षेत्रों में जितने भी विदेशी मुद्रा विनिमय किे जाने वाले ठिकाने पर तलाशी अभियान चलाया जाएगा।

Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned