रैली में नहीं आए अभिषेक और शुभ्रांसु राय

Shankar Sharma

Publish: Nov, 14 2017 10:12:24 (IST)

Kolkata, West Bengal, India
रैली में नहीं आए अभिषेक और शुभ्रांसु राय

महानगर के धर्मतल्ला स्थित रानी रासमणि रोड पर भाजपा की रैली के जवाब में तृणमूल युवा कांग्रेस ने सोमवार को रैली की

कोलकाता. महानगर के धर्मतल्ला स्थित रानी रासमणि रोड पर भाजपा की रैली के जवाब में तृणमूल युवा कांग्रेस ने सोमवार को रैली की। हालांकि इसमें न तो तृणमूल युवा कांग्रेस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी शामिल हुए और न मुकुल राय के विधायक पुत्र शुभ्रांसु राय आए। मुकुल राय पर बिना वार किए ही तृणमूल कांग्रेस के महासचिव और राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने सभा का समापन कर दिया।


उत्तर कोलकाता तृणमूल युवा कांग्रेस की ओर से नोटबंदी और जीएसटी के विरोध के बहाने विश्व बांग्ला के मुद्दे पर मुकुल राय पर पलटवार के लिए रैली का आयोजन किया गया था। भाजपा रैली में मुकुल राय की ओर से विश्व बांग्ला के मुद्दे पर अभिषेक बनर्जी और ममता बनर्जी पर लगाए गए आरोप के जवाब में अभिषेक बनर्जी और शुभ्रान्सु राय से पलटवार करवाना था, लेकिन न शुभ्रान्सु आए औ न अभिषेक बनर्जी शामिल हुए।


जनहित में आंदोलन
अंत में पार्थ चटर्जी ने कहा कि मीडिया में बने रहने की प्रतियोगिता के लिए बल्कि जनहित में आंदोलन करने के लिए यह रैली आयोजित की गई थी। नोटबंदी और जीएसटी जैसे जनविरोधी फैसले के खिलाफ तृणमूल का आंदोलन राज्य के ब्लॉक स्तर पर 15 दिसंबर तक चलेगा। नोटबंदी के कारण अब तक दो लाख से अधिक लोग बेरोजगार हो गए हैं और आगे भी लोगों पर इसका कुप्रभाव पड़ेगा।


विधायकों और मंत्रियों ने संभाला मोर्चा
राज्य के मंत्रियों और पार्टी नेताओं ने मोर्चा संभाला। इनमें पार्थ चटर्जी, शहरी विकास मंत्री फिरहाद हकीम, चंद्रिमा भट्टाचार्य और भाटपाड़ा के विधायक अर्जुन सिंह थे। हकीम और अर्जुन सिंह ने दहाड़ वाले अंदाज में रैली में आए पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने की नाकाम कोशिश की।


वाजपेयी सम्मानीय, मोदी नहीं
फिरहाद हकीम ने साम्प्रदायिकता और निष्पक्षता का मुद्दा उठाते हुए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को सम्मानीय करार दिया। उन्होंने कहा कि भारी मत नहीं मिलने के बावजूद पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी सम्मानीय हैं। वे निर्पेक्ष व्यक्ति है। हम अभी भी उनका सम्मान करते हैं। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा को नहीं। कुछ गिने चुने उद्योगपतियों के बिचौलिए देश चला रहे हैं। आम लोगों की समस्या से केन्द्र सरकार का कोई लेना देना नहीं है।

 

मुकुल को पार्षद चुनाव भी नहीं जीतने देंगे-अर्जुन

विधायक अर्जुन सिंह ने मुकुल राय को निशाना बनाया, लेकिन विश्व बांग्ला के मुद्दा नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि मुकुल राय गद्दार हैं। वे सिर्फ गद्दारी ही कर सकते हैं। इसके सिवाय वे कुछ नहीं कर सकते है। उनका कोई जनाधार नहीं है। सांसद और विधायक का चुनाव जीतने की बात तो दूर वे पार्षद के चुनाव में खड़े हो कर दिखाएं। हम तृणमूल कांग्रेस का एक आम कार्यकर्ता को खड़ा कर उन्हें हराएंगे। वे कालिदास हैं। वे जिस डाल पर बैठे थे उसी डाल को काटने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन वे इसमें कामयाब नहीं हो पाएंगे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned