टीटागढ़ में दिनदहाड़े शूटआउट, तृणमूल नेता को गोली मारी

टीटागढ़ में दिनदहाड़े शूटआउट, तृणमूल नेता को गोली मारी

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Oct, 29 2018 11:59:00 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- डीवाईएफआई नेता व ट्रांसपोर्ट व्यवसायी के खिलाफ एफआईआर
- भाड़े के अपराधियों ने वारदात को अंजाम दिलाने का आरोप

- दो शूटर सहित चार जने गिरफ्तार, गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद मुख्य आरोपी बीमार, अस्पताल में भर्ती

कोलकाता

दमदम पार्क शूटआउट के आरोपी अभी पकड़े भी नहीं गए कि टीटागढ़ में सोमवार की दोपहर हमलावरों ने तृणमूल कांग्रेस के एक नेता को गोली मार दी। घायल तृणमूल कांग्रेस नेता का नाम सतीश मिश्रा है। वह टीटागढ़ नगरपालिका के वार्ड नंबर 21 का अध्यक्ष है। उसे गंभीर हालत में कोलकाता के ईएम बाईपास इलाका स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वह तृणमूल कांग्रेस के पार्षद मनीष शुक्ला का करीबी बताया जा रहा है। घटना के समय शुक्ला पास में ही थे। भाटपाड़ा के विधायक अर्जुन सिंह का कहना है कि शुक्ला ही टार्गेट थे। गोलियां मनीष शुक्ला को ही निशाना बना कर चलाई गई थी। गोलियां लक्ष्य से चूक गई और सतीश मिश्रा को जा लगी। पुलिस के अनुसार सतीश को दो गोली लगी है। एक गोली शरीर को छू कर निकल गई है। दूसरी गोली हार्ट के नजदीक लगी है। हार्ट बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुआ है। उसकी हालत चिंताजनक बताई जा रही है। आरोप डीवाईएफआई नेता व ट्रांसपोर्ट व्यवसायी भोला प्रसाद और उनके समर्थकों पर है। आरोप है कि भाड़े के हमलावरों ने वारदात को अंजाम दिया है। पुलिस ने भोला प्रसाद और काला मुन्ना समेत चार जनों को गिरफ्तार किया था। पुलिस बाकी दो जने के नाम का खुलासा नहीं कर रही है। सूत्रों के अनुसार उक्त दोनों ने गोलियां चलाई थी। उनका एक साथी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। उसकी तलाश की जा रही है। पुलिस ने हत्या का प्रयास, संगठित अपराध समेत भारतीय दंड विधान (भादवि) व आम्र्स एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। गिरफ्तारी के कुछ घंटे बाद आरोपी भोला बीमार हो गया है। उसे इलाज के लिए बीएमआरसी प्राइवेट नर्सिंगहोम में भर्ती कराया गया है। सूत्रों के अनुसार भोला को माइग्रेन की बीमारी है।

बैरकपुर के पुलिस आयुक्त राजेश कुमार ने बताया कि दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। वारदात में और कौन-कौन लोग शामिल हैं। इसकी जांच की जा रही है। शूटऑउट के कारण के बारे में अब तक पता नहीं चल पाया है।

 

kolkata west Bengal

यूं हुई वारदात
दोपहर 12:05 पर टीटागढ़ नगरपालिका के 21 नम्बर वार्ड में बीटी रोड के किनारे आर्यसमाज मंदिर के नजदीक सतीश खड़ा था। पास में कालीपूजा का पंडाल बन रहा है। पार्षद मनीष शुक्ला अपने कई करीबियों के साथ पास में ही थे। तभी दो युवक हाथ में आग्रेयास्त्र लिए पहुंचे और सतीश पर गोली चला दी। एक हमलावर के दोनों हाथों में आग्रेयास्त्र थे। वारदात के बाद दोनों ब्रह्मस्थान की तरफ भाग निकले। पार्षद और उनके समर्थकों ने उनका पीछा किया, लेकिन पकड़ नहीं पाए। इसके बाद भडक़े तृणमूल समर्थकों ने घटनास्थल के पास स्थित भाजपा के कार्यालय में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। घटना की खबर पाकर बड़ी तादाद में पुलिस, रैफ व कॉमबैट फोर्स के जवान पहुंचे। बल प्रयोग कर भीड़ को तितर-बितर किया।

-----

इलाके में दहशत

दिनदहाड़े हुई इस वारदात से इलाके के लोगों में दहशत फैल गई है। स्थानीय लोगों का सवाल है कि जब दिन के उजाले में सत्तारूढ़ दल के लोग सुरक्षित नहीं है तो आम लोगों का क्या होगा?
----

आरोपी के परिजनों ने आरोप को झूठा बताया

आरोपी के परिजनों ने आरोप को झूठा बताया है। भोला प्रसाद के बड़े भाई सुरेश प्रसाद ने कहा कि षडय़ंत्र के तहत उनके भाई को फंसाया गया है। वारदात से भोला का कोई लेना देना नहीं है। अर्जुन सिंह व्यक्तिगत दुश्मनी के तहत भोला को फंसा रहे हैं। अर्जुन सिंह रंगदारी चाहते थे। एक समय जब दिनेश त्रिवेदी रेलमंत्री थे अर्जुन सिंह ने टीटागढ़ रेलवे साइडिंग बंद करा दी थी। लेकिन, भोला ने उन्हें रंगदारी नहीं दी। इसके बाद से वे उसे टार्गेट कर रखे थे। झूठे मामले में उसे फंसा रहे हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned