हजारों किमी से यह करने कोलकाता पहुंचा, गिरफ्तार

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक ऐसी घटना का खुलासा हुआ है, जो हैरान कर देना वाला है। अपराध करने या किसी अनैतिक काम को अंजाम देने शातिर इतने किलोमीटर दूर से महानगर आ सकते हैं, यह कल्पना से बाहर है। कोलकाता पुलिस ने जब इस गिरोह का भंडाफोड़ किया तब यह सच्चाई सामने आई है। पता चला है कि...

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक ऐसी घटना का खुलासा हुआ है, जो हैरान कर देना वाला है। अपराध करने या किसी अनैतिक काम को अंजाम देने शातिर इतने किलोमीटर दूर से महानगर आ सकते हैं, यह कल्पना से बाहर है। कोलकाता पुलिस ने जब इस गिरोह का भंडाफोड़ किया तब यह सच्चाई सामने आई है। पता चला है कि दक्षिण भारत के कर्नाटक के बीदर से करीब 1700 किमी की दूरी तय कर गिरोह सदस्य यहां पहुंचे तथा महानगर के बहूबाजार, एंटाली और बेलियाघाटा के ज्वेलरी स्टोर्स में चोरियों को अंजाम दिया। पुलिस ने बताया कि इनमें से एक अमजद हुसैन को गिरफ्तार कर लिया गया है और तीन की पहचान कर ली गई है।
--
ऐसे आए पकड़ में
पुलिस ने बताया कि एंटाली पुलिस ऐंटी क्राइम टीम गश्त लगा रही थी जब उन्होंने तीन लोगों को सियालदह वीआईपी पार्किंग एरिया में घूमते देखा। पुलिस उनकी तरफ बढऩे लगी तो वे दौडऩे लगे। तीनों भाग गए लेकिन हुसैन का पता लगा लिया गया। उनके पास से सोने की चेनें मिलीं जिनके बार में उनके पास जवाब नहीं थे। चोरी की आशंका से जांच की गई तो कड़ी जुड़ती चली गई।
--
ऐसे देते अपराध को अंजाम
आरोपी अमजद हुसैन को गिरफ्तार कर लिया गया और चेनें जब्त कर ली गईं। बाकी तीनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 413 और 414 के तहत केस दर्ज किए गए। पुलिस ने बताया कि गैंग कोलकाता में कुछ हफ्ते घूमते था और फिर रेकी कर ज्वेलरी दुकानों में चोरी करता। वे पकड़े जाने से बचने के लिए कोलकाता में अपने ठिकाने बदलते रहते थे।
--
मुश्किल था पकडऩा
पुलिस ने बताया कि गैंग कुछ दिन यहां वारदातों को अंजाम देते हैं और फिर दिल्ली-मुंबई जाते हैं और कुछ महीने बाद फिर वापस आते हैं। इसलिए इन्हें पकडऩा मुश्किल होता है। पुलिस ने बताया कि इस तरह के चोर पहले लोगों को बरगलाते हैं और फिर उनका विश्वास जीतकर उन्हें लूट लेते हैं। ये लोग भीड़ में खो जाते हैं और उन्हें पकडऩा मुश्किल हो जाता है। गैंग में कई शातिर चोरों को रखा गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश , बिहार, झारखंड और कर्नाटक के जेबकतरों और चोरों ने कोलकाता को अपना अड्डा बना लिया है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned