एटीएम फ्रॉड: ऐसे मिल सकते हैं खोए रुपए

एटीएम फ्रॉड: ऐसे मिल सकते हैं खोए रुपए
एटीएम फ्रॉड: ऐसे मिल सकते हैं खोए रुपए

Rabindra Rai | Updated: 18 Sep 2019, 09:28:41 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

आज वर्तमान समय में Online or cybercrime, बैंकिंग जालसाजी तथा ATM fraud बहुत बड़ी समस्या बन कर उभरी है। जब तब लोगों के खाते से पैसे गायब होने के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में लोग यह समझ नहीं पाते वे क्या करे कहां जाए?

कोलकाता. सरकार ऑनलाइन और डिजिटल इंडिया की बात तो करती है पर डिजिटल प्रणाली में खामी के चलते बैंक खाते में रखे रुपए सुरक्षित नहीं माने जा रहे हैं। आज वर्तमान समय में ऑनलाइन या साइबर क्राइम, बैंकिंग जालसाजी तथा एटीएम फ्रॉड बहुत बड़ी समस्या बन कर उभरी है। जब तब लोगों के खाते से पैसे गायब होने के मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में लोग यह समझ नहीं पाते वे क्या करे कहां जाए? उनका खोया पैसा क्या मिल सकेगा। रिजर्व बैंक के प्रावधानों के अनुसार पीडि़त उपभोक्ता अदालत में उचित तरीके से कदम उठाए तो पैसे वापस मिल सकते हैं।
--

80 हजार रुपए निकाल लिए
एटीएम फ्रॉड के जरिए गत 20 फरवरी को संजय झा नामक व्यक्ति के खाते से 80 हजार रुपए निकाल लिए गए। जालसाजों ने हावड़ा के एक एटीएम से पांच बार में रुपए निकाले थे। मिनी स्टेटमेंट से पता चला कि उनके अकाउंट से अवैध तरीके से रुपए निकाले गए थे। पीडि़त ने बेहला थाना, हेयर स्ट्रीट में एफआईआर करवाई तथा अपना एटीएम ब्लॉक कराया। उन्होंने ज्वाइंट कमिशनर डीडी से भी शिकायत की, पर उन्हें उचित मदद नहीं मिली।
--
यहां मिली मदद
निराश संजय ने साइबर क्राइम विशेषज्ञ पंकज केडिया से संपर्क किया। उन्होंने मामले को उपभोक्ता अदालत में दाखिल कराया। पंकज केडिया और अधिवक्ता राजेश वाजपेयी ने उपभोक्ता अदालत में मामले को आगे बढ़ाया। अदालत में मामले की सुनवाई चली। गत 9 अगस्त को बैंक ने अपनी गलती मानते हुए पैसे वापस कर दिए। उपभोक्ता अदालत ने 3000 हजार रुपए मानसिक उत्पीडऩ एवं 1000 रुपए कानूनी खर्च का मुआवजा देने का भी निर्देश दिया
--
इनका कहना है
उचित तरीके से कदम उठाए तो किसी पीडि़त के पैसे वापस मिल सकते हैं। इस विषय पर बंगाल के तमाम शहरों में जागरूकता फैलाने की जरूरत है।
पंकज केडिया, विशेषज्ञ, साइबर क्राइम
--
साइबर क्राइम से बचने के उपाय
- किसी अनजान साइट से मोबाइल ऐप को डाउनलोड ना करें
- किसी प्रकार का ओटीपी आने पर तुरंत बैंक से संपर्क करें
- अनजान वेबसाइट पर खरीदारी में सतर्कता बरतें

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned