एसएसकेएम में मरीज की मौत के बाद डॉक्टर पर हमला

एसएसकेएम में मरीज की मौत के बाद डॉक्टर पर हमला

Renu Singh | Publish: Aug, 13 2019 03:33:19 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

doctor beaten by patient party -6 आरोपी गिरफ्तार, थाने में मामला दर्ज
-परिजनों का आरोप रविवार को अस्पताल में डॉक्टरों की संख्या थी बहुत कम

-डॉक्टरों ने मरीज का ऑक्सीजन सिलेंडर समय पर नहीं बदला, जिससे हुई मौत
-किडनी की समस्या के इलाज के लिए मरीज को कराया गया था भर्ती

 

कोलकाता

एसएसकेएम में सोमवार सुबह को एक मरीज की मौत के बाद उसके घरवालों ने डॉक्टर व कई कर्मचारियों पर हमला कर दिया। यहां तक कि मरीज के परिजनों ने अस्पताल में तोडफ़ोड़ भी की। मृतक मरीज का नाम मोहम्मद अकबर बताया जा रहा है। पुलिस ने मृतक के भाई व आरोपी मोहम्मद साजिद सहित कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया है।
अस्पताल के सूत्रों ने बताया कि रविवार को किडनी की समस्या के इलाज के लिए मोहम्मद अकबर को एसएसकेएम के नेफ्रोलॉजी विभाग में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर का कहना था कि अस्पताल लाए जाने के समय ही अकबर की हालत बहुत ही गंभीर थी। उसकी हालत पर कुछ कहा नहीं जा सकता था। किडनी में संक्रमण इतना अधिक था कि कभी भी मरीज की मौत हो सकती थी। डॉक्टरों ने उसके घरवालों को 24 घंटे मरीज के पास रहने की अनुमति भी दी थी। सोमवार करीब 6 बजे अकबर की मौत हो गई। उसके बाद ही अकबर के परिजन भडक़ गए। परिवारवालों ने कहा कि रविवार को अस्पताल में डॉक्टरों की संख्या बहुत कम थी। डॉक्टरों ने उसका ऑक्सीजन सिलेंडर को नहीं बदला। परिणामस्वरूप अस्पताल की लापरवाही से मरीज की मौत हो गई। मृतक के परिजनों ने आरएमओ मृणालेंदु दास को बुरी तरह पीटा। बीच-बचाव करने गए कर्मचारियों और नर्स को भी पीटा गया। घटना की खबर मिलते ही अस्पताल के आउटपोस्ट की पुलिस वहां पहुंची। फिर भी मामला नियंत्रित नहीं हो सका। उसके बाद भवानीपुर थाने की पुलिस ने जाकर आरोपी को गिरफ्तार किया। पुलिस ने उनके खिलाफ स्वत: संज्ञान लेते हुए मामला दर्ज किया है।

बंद नहीं हो रही हैं डॉक्टरों पर हमले की घटना

मालूम हो कि अस्पताल में मरीज की मौत को लेकर डॉक्टरों पर हमले की घटना बंद नहीं हो रही है। नीलरतन सरकार अस्पताल में डॉ. परिवह मुखर्जी क ो पीटे जाने के बाद डॉक्टरों की हड़ताल से चिकित्सा सेवा बंद हो गई थी। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को हस्तक्षेप करना पड़ा था, तब चिकित्सा सेवा शुरू हुई। गत दिनों मालदह मेडिकल कॉलेज नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज सहित कई अस्पतालों में मरीज की मौत के बाद हंगामा हुआ है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned