बाक्सी पुल को मरम्मत के बाद खोला, वाहनों की आवाजाही शुरू

बाक्सी पुल को मरम्मत के बाद खोला, वाहनों की आवाजाही शुरू
बाक्सी पुल को मरम्मत के बाद खोला, वाहनों की आवाजाही शुरू

Nirmal Mishra | Updated: 12 Oct 2019, 11:20:59 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

बाक्सी पुल को मरम्मत के बाद खोला, वाहनों की आवाजाही शुरू

बाक्सी पुल को मरम्मत के बाद खोला, वाहनों की आवाजाही शुरू

- मालवाही व बड़े वाहनों पर लगी पाबंदी भी हटाई

- पुल को दुरुस्त करने में लगा चार महीने का समय
हावड़ा

आमता-जयपुर के बीच बाक्सी पुल की मरम्मत का काम खत्म हो गया है। शनिवार से चार महीने बंद रहने के बाद पूरी तरह से खोल दिया गया। नतीजतन, छोटी कारों और ट्रकों की आवाजाही फिर से चालू हो गई। अमाता-2 पंचायत समिति के अध्यक्ष सुकांत पाल ने बताया कि मरम्मत का काम तीन महीने में पूरा हो जाएगा। लेकिन इसको पूरा करने में एक माह का अधिक समय लग गया। मरम्मत होने से पुल पूरी तरह से मजबूत हो गया है। कुलियाघाट से बागनान और कोलकाता तक बीच में बसें चलाने के लिए जिला परिवहन कार्यालय से बात कर इसको जल्द से जल्द चालू करने का प्रयास करूंगा। बख्शी में गाईघाटा नहर पर पुल 2006 में शुरू हुआ था। 352 मीटर के इस पुल के दोनों छोर के खम्भे धंस गए थे। उसके बाद लोक निर्माण विभाग ने इस पुल को कमजोर घोषित कर दिया था। इस पर मालवाही व भारी वाहनों की आवाजाही पर रोक लगा दी थी।
---

मरम्मत कार्य में पांच करोड़ खर्च

कोलकाता के माझेरहाट पुल टूटने के बाद स्थानीय विधायक असीत मित्र व आमता 2 नंबर पंचायत समिति के अध्यक्ष सुकांत पाल ने राज्य के लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों से इसकीमरम्मत करवाने की मांग की थी। उसके बाद जून से लोक निर्माण विभाग ने मरम्मत कार्य शुरू करवा दिया। पुल की मरम्मत में करीब पांच करोड़ का खर्च आया।
---

तीन ग्राम पंचायतों के ७० हजार लोग करते हैं इस्तेमाल

लोक निर्माण विभाग (सडक़) हावड़ा डिवीजन के सूत्रों के अनुसार पुल के दोनों खम्भों को नए सिरे से बनाया गया है। इसके अलावा पुल 48 बेयरिंग बदले गए हैं। लोक निर्माण विभाग के इंजीनियरों ने पुल की स्थिति की जांच की। उसके बाद ही इसको शनिवार को खोलने का निर्णय लिया गया। आमता ब्लॉक 2 के घोड़ाबेडिय़ा-चितनान, भाटोरा, काशमली तीन ग्राम पंचायतों के लगभग सत्तर हजार लोग इस पुल का इस्तेमाल करते हैं। इसके चालू होने से लोगों में खुशी का महौल है।

---
क्या कहते हैं विधायक

पुल कमजोर होने से खतरा मडंरा रहा था लेकिन अब इसकी मरम्मत हो गई। खतरा भी टल गया और वाहनों की आवाजाही शुरू हो गई। इससे आम जनता भी खुश है।
- असीत मित्र, विधायक, आमता विधानसभा, हावड़ा

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned