फर्जी डॉक्टर होने के आरोप में पिटाई

- कमारकुंडू में नर्सिंग होम का मामला

By: Rajendra Vyas

Published: 14 Jan 2021, 07:07 PM IST

हुगली. जिले के कमारकुंडू में एक नर्सिंग होम के डॉक्टर के फर्जी होने के आरोप सामने आने के बाद मरीज के परिजनों ने आरोपी की धुनाई कर डाली । मामला कमारकुंडु स्थित जीवन दीप नर्सिंग होम का है। मरीज के परिजनों के मुताबिक नर्सिंग होम के प्रमुख डॉ. हराधन मन्ना खुद को स्त्री रोग विशेषज्ञ बताते हैं जबकि वो अपनी डिग्री नहीं दिखा पाए। इसके साथ ही वे एक होम्योपैथिक डॉक्टर को एमबीबीएस डॉक्टर बताकर नर्सिंग होम में मरीज के इलाज के लिए नियुक्त किया है । रोगी के परिजनों के दबाव के बाद आरोपी डॉक्टर ने यह स्वीकार किया कि उनके पास एमबीबीएस की डिग्री नहीं है । वे होम्योपैथिक चिकित्सक थे । बताते चलें कि सिंगुर के अपूर्वा पुर के निवासी प्रबीर कुमार चटर्जी ने अपनी बुजुर्ग मां सुषमा चटर्जी को मंगलवार की दोपहर सांस की शिकायत के साथ नर्सिंग होम में भर्ती कराया था । बुधवार की सुबह से उनकी हालत बिगड़ती चली गई । मरीज के परिजनों को अस्पताल पहुंचने पर जानकारी मिली कि फर्जी एमबीबीएस डॉक्टर उनकी मां का इलाज कर रहे है । इसलिए उनकी हालत बिगड़ रही है। जिसके बाद विवाद शुरू हुआ। परिजनों ने होम्योपैथिक डॉक्टर के साथ मारपीट की और नर्सिंग होम के मुख्य चिकित्सक हराधन मन्ना को घेर लिया और विरोध किया। खबर मिलने पर सिंगुर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची । हालांकि, नर्सिंग होम के प्रमुख डॉक्टर हराधन मन्ना के पुत्र डॉ अरिजीत मन्ना ने दावा किया कि मरीज का इलाज वीडियो कॉल के जरिए किया गया था और वे सिंगुर अस्पताल में एमबीबीएस डॉक्टर है । पुलिस मामले की जांच में जुटी है ।

Rajendra Vyas Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned