रिटायर्ड आईपीएस भारती घोष पर लटकी गिरफ्तारी की तलवार

रिटायर्ड आईपीएस भारती घोष पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है। अदालत ने गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है।

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 10 Feb 2018, 09:59 PM IST

कोलकाता
नौकरी के दौरान अवैध वसूली के आरोप में रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी भारती घोष और उनके बॉडीगार्ड सुजीत मंडल के खिलाफ पश्चिम मिदनापुर जिले की घाटाल अदालत ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है। सीआईडी ने दोनों की तलाश शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार भारती घोष और सुजीत राज्य से बाहर हैं। सीआईडी को दोनों के उत्तर भारत के किसी शहर में छुपे होने का संदेह है। उन दोनों के मोबाइल फोन का टॉवर लोकेट करने का प्रयास किया जा रहा है। सीआईडी के एक अधिकारी ने बताया कि बहुत जल्द सीआईडी टीमें भारती घोष और सुजीत को गिरफ्तार करने के लिए उत्तर भारत के विभिन्न शहरों में रवाना की जाएंगी।

---
क्या है मामला

पश्चिम मिदनापुर जिले के एक स्वर्ण व्यवसायी ने भारती घोष और उनके कुछ करीबी पुलिसकर्मियों के खिलाफ अवैध ढंग से वसूली का आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया है। उक्त व्यवसायी का आरोप है कि नोटबंदी के दौरान भारती घोष के करीबी पुलिस वाले उसके पास से 375 ग्राम सोना और कुछ नकदी ले गए थे। उसे सरकारी खजाने में जमा करने की बजाए आपस में बांट लिया।
---

अब तक 3 करोड़ नकद और 2 किलो सोना जब्त
मामले में भारती घोष एवं उनके करीबी पुलिसकर्मियों के घर छापेमारी कर सीआईडी ने लगभग 3 करोड़ रुपए नकद और 2 किलोग्राम सोना जब्त किया है। भारती घोष के करीबी माने जाने वाले दो पुलिस अधिकारी एवं कोलकाता के मादुरदह इलाका स्थित भारती घोष के फ्लैट के केयरटेकर को सीआईडी ने गिरफ्तार किया है।

---
भारती के पति को किया है तलब

सीआईडी ने मामले में भारती घोष के पति एम. ए. वी. राजू को तलब किया है। दो बार उन्हें सीआईडी की ओर नोटिस भेजा जा चुका है। हालांकि वे हाजिर नहीं हुए है। राजू ने सीआईडी पर अत्याचार का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। साथ ही मामले की सीबीआई जांच की मांग करते हुए कलकत्ता हाईककोर्ट में मामला दर्ज कराया है।

Prev Page 1 of 3 Next
Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned