बंगाल : आदर्श आचार संहिता लागू होने के साथ आयोग का एक्शन शुरू. हटाए गए एडीजी कानून-व्यवस्था जावेद शमीम

जगमोहन को राज्य का नया एडीजी (कानून व्यवस्था) बनाया गया

By: Krishna Das Parth

Published: 27 Feb 2021, 10:43 PM IST

कोलकाता.
बंगाल में चुनाव तारीखों की घोषणा व आदर्श आचार संहिता लागू होने के साथ आयोग का एक्शन शुरू हो गया है। चुनाव की घोषणा के अगले ही दिन शनिवार को चुनाव आयोग ने राज्य के एडीजी (कानून व्यवस्था) जावेद शमीम को हटाने का फैसला किया। उनकी जगह दमकल विभाग के महानिदेशक (डीजी) पद पर तैनात जगमोहन को राज्य का नया एडीजी (कानून व्यवस्था) बनाया गया है। इस बाबत अधिसूचना भी जारी कर दी गई है। गौरतलब है कि चुनाव की घोषणा के बाद आयोग की यह पहली बड़ी कार्रवाई है, जब राज्य के किसी शीर्ष पुलिस अधिकारी को हटाया गया है। अधिसूचना के मुताबिक, जावेद शमीम को जगमोहन की जगह दमकल विभाग का नया डीजी बनाया गया है। राज्य सरकार ने कुछ दिनों पहले ही ज्ञानवंत सिंह की जगह जावेद शमीम को राज्य के नया एडीजी (कानून व्यवस्था) के पद पर नियुक्त किया था। जावेद इससे पहले कोलकाता पुलिस के विशेष आयुक्त के पद पर थे। इधर, चुनाव आयोग द्वारा एडीजी (कानून व्यवस्था) के पद से जावेद शमीम को हटाए जाने के फैसले पर तृणमूल कांग्रेस ने आपत्ति जताई है। तृणमूल के वरिष्ठ सांसद व प्रवक्ता सौगत राय ने कहा कि इस तबादले के पीछे भाजपा का हाथ है या नहीं यह देखना होगा। उन्होंने कहा कि हम चुनाव आयोग का सम्मान करते हैं लेकिन इस प्रकार की कार्रवाई से उसकी निष्पक्षता पर सवाल उठना लाजिमी है। दूसरी ओर, भाजपा ने चुनाव आयोग के इस कदम का स्वागत किया है। प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष जयप्रकाश मजूमदार ने कहा कि शांतिपूर्ण व निष्पक्ष चुनाव के लिए आयोग को जो उचित लगेगा वह इसके लिए स्वतंत्र है। सभी को इसे मानना ही होगा। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा कई रिटायर्ड आइएएस व आइपीएस अधिकारियों को महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्त किए जाने पर भी सवाल उठाते हुए चुनाव आयोग से उन्हें हटाने के लिए कार्रवाई की मांग की।
--

-राज्य भर में नाका चेकिंग अभियान शुरू

कोलकाता.
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की घोषणा के साथ राज्य भर में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। शुक्रवार शाम केंद्रीय चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा द्वारा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो जाने के बाद कोलकाता एवं आसपास के जिलों हावड़ा, हुगली, उत्तर और दक्षिण 24 परगना तथा राज्य के अन्य हिस्सों में पुलिस ने नाका चेकिंग अभियान शुरू कर दिया है। कोलकाता में प्रवेश करने से पहले हावड़ा की तरफ से नदी के रास्ते होकर गुजरना पड़ता है इसलिए गंगा नदी में विशेष निगरानी वोट की तैनाती की गई है। इसके अलावा हावड़ा ब्रिज के दोनों छोर पर भी जांच अभियान शुरू कर दिया गया है। इसी तरह से प्रत्येक जिले के एंट्री प्वाइंट और दूसरे राज्यों से पश्चिम बंगाल में प्रवेश के सारे बिंदुओं पर पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू किया है। राज्य प्रशासन के एक आला अधिकारी ने बताया कि चुनाव के समय बाहरी अपराधी बंगाल में घुसकर किसी तरह की अस्थिरता ना फैलाएं इसीलिए विशेष तौर पर सतर्कता बरती जा रही है। किसी भी अनजान शख्स को बिना जांच अंदर प्रवेश की अनुमति नहीं दी जा रही है। इसके अलावा हथियारों की तस्करी को लेकर पुलिस विशेष तौर पर सतर्क है। इंटेलिजेंस की सूचना है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के समय हिंसा फैलाने के लिए अपराधिक प्रवृत्ति के लोग दूसरे राज्यों से प्रवेश कर सकते हैं इसलिए विशेष तौर पर निगरानी रखी जा रही है।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned