बंगाल: दुर्गा पूजा उत्सव सादगी से सम्पन्न

कोराना महामारी की छाया के बीच पश्चिम बंगाल में पांच दिवसीय दुर्गा पूजा उत्सव सोमवार को संपन्न हो गया। भव्यता और दिव्यता वही थी, पर पूरी सादगी के साथ उत्सव मनाया गया। पहले जहां देवी दुर्गा के दर्शन के लिए दिन रात सड़कों पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ता था, इस बार वैसा नहीं हुआ।

By: Rabindra Rai

Published: 26 Oct 2020, 07:53 PM IST

इस बार सड़कों पर लोगों की भीड़ नहीं आई नजर
कोलकाता. कोराना महामारी की छाया के बीच पश्चिम बंगाल में पांच दिवसीय दुर्गा पूजा उत्सव सोमवार को संपन्न हो गया। भव्यता और दिव्यता वही थी, पर पूरी सादगी के साथ उत्सव मनाया गया। पहले जहां देवी दुर्गा के दर्शन के लिए दिन रात सड़कों पर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ता था, इस बार वैसा नहीं हुआ। प्रतिमा विसर्जन कार्यक्रम में भी कुछ लोगों को ही शामिल होने की अनुमति के कारण इस बार सड़कों पर लोगों की भीड़ नजर नहीं आई।
पारंपरिक परिधान के साथ चेहरे पर मास्क लगाए लोगों ने सामाजिक दूरी के नियमों का पालन किया और आश्चे बोछोर आबार होबेÓ (अगले साल फिर होगा) के जयघोष के साथ माता का आशीर्वाद लिया। महिलाओं ने माता को प्रसाद चढ़ाया हालांकि पंडाल के भीतर पारंपरिक सिंदूर खेला (महिलाएं एक-दूसरे को सिंदूर लगाती हैं) में भी मुख्य रूप से दुर्गा पूजा के आयोजकों की ही मौजूदगी रही और कुछ स्थानीय लोग ही वहां पहुंचे।
कोलकाता पुलिस के सूत्रों के मुताबिक शांतिपूर्ण तरीके से प्रतिमा के विसर्जन के लिए समुचित इंतजाम किए गए। विभिन्न घाटों पर सीसीटीवी भी लगाए गए और नगर निगमों तथा कोलकाता पत्तन न्यास (केओपीटी) के कर्मी भी स्थिति की निगरानी के लिए वहां मौजूद रहे।
--
पूजा कार्निवल इस बार नहीं
सभी पूजा समितियों से घाट पर कम से कम लोगों के साथ जाने को कहा गया। जल प्रदूषित नहीं हो इसके लिए बड़ी बड़ी नौकाओं पर लगाई गई क्रेन की मदद से नदी से प्रतिमा के अवशेष को निकाला गया। कोविड-19 के कारण रेड रोड पर दुर्गा पूजा जुलूस (कार्निवल) को इस बार रद्द कर दिया गया। इससे पहले पूजा आयोजन समितियां प्रतिमा विसर्जन के पहले रेड रोड से गुजरती थीं।
--
राज्यपाल ने दी शुभकामनाएं
राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने विजयादशमी की शुभकामनाएं दी। उन्होंने सोमवार को ट्वीट किया कि पहले सेवक के रूप में, मैं राज्य के लोगों को शुभकामनाएं देता हूं और कामना करता हूं कि आसुरी शक्ति नष्ट हो जाए, बंगाल नई शक्ति के उभरते बिंदु के रूप में स्थापित हो सकता है।
मै मां दुर्गा से प्रार्थना करता हूं कि बंगाल असत्य से सत्य की राह पर जाए, अधर्म से धार्मिकता की ओर, अंध मोह से मुक्ति की ओर बढ़े। यह भी कामना है कि भविष्य में बंगाल कोरोना के चंगुल से मुक्त हो। मां आपको आशीर्वाद दे, शांति और सुकून बना रहे।
--
सीएम की खुशियां बांटने का आग्रह
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को विजयादशमी के अवसर पर राज्य के लोगों को शुभकामनाएं दी और सभी से खुशियां बांटने का आग्रह किया। तुणमूल कांग्रेस प्रमुख बनर्जी ने बड़ों से आशीर्वाद मांगा और अपने से छोटे व्यक्तियों को स्नेहाशीष दिया। उन्होने ट्विटर पर कहा कि राज्य की माँ, माटी और मानुष को शुभकामनाएँ देती हूं। मैं बड़ों का आशीर्वाद चाहती हूँ और छोटे लोगों को स्नेहाशीष देती हूँ। यह माँ दुर्गा के प्रस्थान का समय है। उन्होंने कहा कि हमें आपस में खुशियां बांटना चाहिए और प्रार्थना करती हूं कि त्योहार अगले साल फिर से पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। एक अन्य ट्वीट में, उन्होंने पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले मेरे सभी भाइयों और बहनों को बधाई।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned