नहीं थमी हिंसा तो पश्चिम बंगाल में लगेगा राष्ट्रपति शासन!

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को "तुष्टिकरण की नीतियों" का दोषी ठहराते हुए दावा किया कि इन नीतियों से पश्चिम बंगाल में ऐसे हालात पैदा हुए।"

कोलकाता
भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने शनिवार को कहा कि अगर संशोधित नागरिकता कानून को लेकर भड़की हिंसा नहीं थमी तो उनकी पार्टी राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग करेगी। पश्चिम बंगाल के विभिन्न क्षेत्रों में झड़पों और आगजनी की घटनाओं के लिए बांग्लादेशी मुस्लिम घुसपैठियों को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को "तुष्टिकरण की नीतियों" का दोषी ठहराते हुए दावा किया कि इन नीतियों से पश्चिम बंगाल में ऐसे हालात पैदा हुए।"
भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर राज्य में पिछले दो दिन से जारी हिंसा को रोकने के लिए कुछ नहीं किया। उन्होंने कहा, "हम (भाजपा) कभी भी राष्ट्रपति शासन का समर्थन नहीं करते। लेकिन अगर पश्चिम बंगाल में यह अराजकता जारी रही, तो हम हमारे पास राष्ट्रपति शासन की सिफारिश करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचेगा। एक ओर पूरा राज्य जल रहा है, दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस सरकार सिर्फ मूकदर्शक बनी बैठी है।"

Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned