scriptCase of comment on the President in the High Court | राष्ट्रपति पर टिप्पणी का मामला हाइकोर्ट में | Patrika News

राष्ट्रपति पर टिप्पणी का मामला हाइकोर्ट में

locationकोलकाताPublished: Nov 14, 2022 11:16:43 pm

Submitted by:

Rabindra Rai

राज्य के जेल राज्य मंंत्री अखिल गिरि की ओर से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी का मामला कलकत्ता हाइकोर्ट में पहुंच गया है। गिरि पर कानूनी कार्रवाई करने के लिए सोमवार को एक जनहित याचिका दायर करने की अनुमति अदालत से मांगी गई। मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव की खंडपीठ ने जनहित याचिका दायर करने की अनुमति दे दी।

राष्ट्रपति पर टिप्पणी का मामला हाइकोर्ट में
राष्ट्रपति पर टिप्पणी का मामला हाइकोर्ट में
मंत्री अखिल गिरि के खिलाफ जनहित याचिका
कोलकाता. राज्य के जेल राज्य मंंत्री अखिल गिरि की ओर से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी का मामला कलकत्ता हाइकोर्ट में पहुंच गया है। गिरि पर कानूनी कार्रवाई करने के लिए सोमवार को एक जनहित याचिका दायर करने की अनुमति अदालत से मांगी गई। मुख्य न्यायाधीश प्रकाश श्रीवास्तव की खंडपीठ ने जनहित याचिका दायर करने की अनुमति दे दी।
--
याचिका में यह मांग
जनहित याचिका में अखिल गिरि को संविधान के सर्वोच्च पद का अनादर करने के लिए सजा देने की मांग की गई। मंगलवार को मामले की सुनवाई हो सकती है। सूत्रों के मुताबिक याचिका में अखिल गिरि को राज्य मंत्रिमंडल से हटाने और गिरफ्तार करने की मांग की गई है। हाइकोर्ट जनहित याचिका पर सुनवाई के लिए राजी है। फिलहाल अभी तक टीएमसी ने मंत्री के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है।
--
मंत्री का विवादित बयान
अखिल गिरि ने नंदीग्राम में जनसभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर अपमानजनक टिप्पणी की थी। उनका बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसके बाद भाजपा ने अखिल गिरि और ममता सरकार पर निशाना साधा और उनकी गिरफ्तारी की मांग की। तृणमूल ने एक बयान में कहा कि पार्टी इस तरह के बयानों का समर्थन नहीं करती है।
--
जुलूस निकाल कर राजभवन गए भाजपा विधायक
- मंत्री गिरि को बर्खास्त करने की मांग
कोलकाता. राज्य के मंत्री अखिल गिरि की ओर से राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर विवादास्पद टिप्पणी के विरोध में भाजपा विधायक सोमवार को जुलूस के साथ राजभवन गए। नेता प्रतिपक्ष शुभेन्दु अधिकारी के नेतृत्व में जुलूस विधानसभा से शुरू हुआ और राजभवन गया।
सभी विधायक अपने गले में राष्ट्रपति मुर्मू की तस्वीर लटकाए हुए थे। वे अखिल गिरि को बर्खास्त करने की मांग कर रहे थे।
राज्यपाल ला गणेशन के नहीं होने पर भाजपा विधायकों ने राज भवन के अधिकारियों को ज्ञापन दिया, जिसमें विधायकों ने अखिल को विधायक पद से बर्खास्त करने की मांग की। इससे पहले शुभेंदु ने पत्र लिखकर राज्यपाल से दो दिन के भीतर मिलने का समय मांगा था।
--
स्पीकर से भी करेंगे बर्खास्त करने की मांग
राजभवन जाने से पहले शुभेन्दु ने भाजपा विधायकों की बैठक ली। बैठक में विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी से अखिल को बर्खास्त करने की लिखित मांग करने का फैसला लिया। शुभेन्दु ने बताया कि वे आगामी 18 नवंबर से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र के दौरान भी राष्ट्रपति के अपमान का विरोध करेंगे।
--
लिखित मांग आने पर विचार करूंगा: स्पीकर
विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा के बाहर में हुए किसी भी घटना के बारे में कुछ भी फैसला करना मेरे अधिकार क्षेत्र में नहीं है। फिर भी भाजपा विधायकों के लिखित आवेदन आने पर वे विचार करेंगे।
--
भाजपा ने किया थाने का घेराव, मंत्री की गिरफ्तारी की मांग
- राष्ट्रपति के खिलाफ आपत्तिजनक बयान
कोलकाता. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के माफी मांगने के बावजूद राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के विरोध में मंत्री अखिल गिरि के आपत्तिजनक बयान को लेकर मचा घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा ने सोमवार को विभिन्न जिलों में थाना घेराव अभियान चलाया और राष्ट्रपति का अपमान करने के लिए अखिल गिरि की गिरफ्तारी की मांग की।
भाजपा कार्यकर्ताओं और समर्थकों ने मालदह, कूचबिहार, उत्तर दक्षिण दिनाजपुर सहित अन्य जिलों में थाना घेराव अभियान चलाया। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने मालदह के थानेके घेराव के दौरान पुलिस बैरिकेड तोड़ कर थाने में प्रवेश करने की कोशिश की। इसको लेकर पुलिस और पार्टी कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई हुई। इसी तरह उत्तर दिनाजपुर में थाना घेराव के दौरान पुलिस और पार्टी कार्यकर्ताओं में धक्का-मुक्की हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.