चिटफंड घोटाले में कोलकाता का पत्रकार गिरफ्तार

चिटफंड घोटाले में कोलकाता का पत्रकार गिरफ्तार

Manoj Kumar Singh | Updated: 20 Dec 2018, 10:52:52 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

अवैध पोंजी स्कीम चलाने वाली कंपनी से व्यक्तिगत खाते में पैसे लेने का आरोप

 

केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटाले में कथित संलिप्तता के आरोप में गुरुवार को कोलकाता के वरिष्ठ पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय को दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को उन्हें भुवनेश्वर स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। चट्टोपाध्याय देश के एक बड़े मीडिया हाउस के कोलकाता से प्रकाशित होने वाले एक प्रमुख बांग्ला समाचारपत्र के संपादक हैं। सीबीआई ने उन पर अवैध तरीके से पोंजी स्कीम के जरिए लोगों से पैसे संग्रह करने वाली चिटफंड कंपनी आई-कोर के मालिक से पैसे लेने का आरोप लगाया है।
कोलकाता

केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने पश्चिम बंगाल में चिटफंड घोटाले में कथित संलिप्तता के आरोप में गुरुवार को कोलकाता के वरिष्ठ पत्रकार सुमन चट्टोपाध्याय को दिल्ली में गिरफ्तार कर लिया। शुक्रवार को उन्हें भुवनेश्वर स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया जाएगा। चट्टोपाध्याय देश के एक बड़े मीडिया हाउस के कोलकाता से प्रकाशित होने वाले एक प्रमुख बांग्ला समाचारपत्र के संपादक हैं। सीबीआई ने उन पर अवैध तरीके से पोंजी स्कीम के जरिए लोगों से पैसे संग्रह करने वाली चिटफंड कंपनी आई-कोर के मालिक से पैसे लेने का आरोप लगाया है। सीबीआई के अधिकारियों ने बताया कि चट्टोपाध्याय दिशा प्रोडक्शन्स एण्ड मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक हैं और उन्होंने अपनी कंपनी और अपने व्यक्तिगत बैंक खाते में चिटफंड घोटाले का पैसा लिया है। सीबीआई अधिकारियों के अनुसार सुमन चट्टोपाध्याय के चिटफंड घोटाले में लिप्त होने का पुख्ता दस्तावेज मिलने के बाद केन्द्रीय जांच एजेंसी ने पूछताछ करने के लिए उसे बुधवार को कोलकाता स्थित अपने कार्यालय में बुलाया। सीबीआई के सवालों का ठीक से जवाब नहीं देने पर उन्हें गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। सीबीआई उन्हें शुक्रवार को भुवनेश्वर स्थित विशेष सीबीआई अदालत में पेश करेगी और कोर्ट से चट्टोपाध्याय को कस्टडी मेंं भेजने की मांग करेगी। सीबीआई के अधिकारियों ने कहा कि चिटफंड कंपनी आई-कोर ने अधिक ब्याज देने का लालच दे कर पोंजी स्कीम के जरिए लोगों से 3000 करोड़ से अधिक धन संग्रह किया है। कंपनी ने उक्त रकम का एक हिस्सा सुमन चट्टोपाध्याय की कंपनी के जरिए दूसरे खाते में स्थानांतरित की है। सीबीआई के पास इसके पुख्ता सबूत हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned