पश्चिम बंगाल के गलियों में पहुंची केंद्रीय सुरक्षा वाहिनी

पश्चिम बंगाल के गलियों में पहुंची केंद्रीय सुरक्षा वाहिनी

Prabhat Kumar Gupta | Publish: Mar, 17 2019 04:15:09 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगाल में निष्पक्ष और निर्विघ्न चुनाव सम्पन्न कराने के उद्देश्य से केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने कोलकाता सहित समस्त जिलों में केंद्रीय बलों की टुकड़ियां उतार दी हैं।


- दक्षिण 24 परगना में दो कम्पनी होगी तैनात
कोलकाता.
पश्चिम बंगाल में निष्पक्ष और निर्विघ्न चुनाव सम्पन्न कराने के उद्देश्य से केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने कोलकाता सहित समस्त जिलों में केंद्रीय बलों की टुकड़ियां उतार दी हैं। इनमें से दो कम्पनी दक्षिण 24 परगना जिले के संवेदनशील इलाकों में तैनात की जाएंगी। शेष जवान राज्य के दूसरे जिलों के संवेदनशील इलाकों में भेजने की योजना है। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के सूत्रों ने बताया कि राज्य के विभिन्न संसदीय क्षेत्रों के संवेदनशील बूथों की पहचान कर ली गई है। इनमें सबसे अधिक दक्षिण 24 परगना जिले के बूथ शामिल हैं। इसे ध्यान में रखते हुए आयोग ने उक्त इलाके के वोटरों में मतदान के प्रति आस्था और साहस बढ़ाने के लिए केंद्रीय सुरक्षा बलों का रूट मार्च कराने का निर्णय लिया है। सूत्रों ने बताया कि चुनाव में सुरक्षा के लिए केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के साथ साथ बीएसएफ और एसएसबी के जवानों को तैनात किया जाना है। राज्य के अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी (एडिशनल सीईओ) संजय बसु के अनुसार प्रथम चरण के चुनाव के लिए मुख्य रूप से बीएसएफ के जवान ही संवेदनशील बूथों पर तैनात होंगे। किस जिले में कितना सुरक्षा बल तैनात किए जाएंगे, यह एक निर्देश के जरिए जिला निर्वाचन अधिकारियों को सूचित किया जा चुका है। केंद्रीय बलों की गतिविधियों की होगी वीडियोग्राफी-आयोग ने यह स्पष्ट कर दिया है कि केंद्रीय बलों की गतिविधियों पर पैनी नजर रखने के अलावा उनकी वीडियोग्राफी करना अनिवार्य होगा। जिसे सीईओ के माध्यम से केंद्रीय निर्वाचन आयोग को भेजा जाएगा। अतीत के चुनावों में केंद्रीय बलों की तैनाती पर विपक्षी दलों के आरोपों के मद्देनजर आयोग इस बार कड़ा तेवर में है। केंद्रीय बल किस दिन किस इलाके में रूट मार्च करने वाला है, यह सूचना आयोग की वेबसाइट पर अपलोड करने का सख्त निर्देश है। यही नहीं मतदान के दिन संबंधित बूथ पर कितनी कम्पनी केंद्रीय बल तैनात की गई, पीठासीन अधिकारी अपनी डायरी में इसका उल्लेख करेंगे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned