कोलकाता में दिसंबर से खुल जाएंगे कॉलेज व विश्वविद्यालय

छात्रों व अभिभावकों में सुरक्षा को लेकर संदेह

By: Krishna Das Parth

Published: 17 Nov 2020, 12:06 AM IST

कोलकाता . महानगर समेत राज्य में दिसंबर से कॉलेज और विश्वविद्यालय खुल जाएंगे। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने नवंबर में परिसर को फिर से खोलने के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किया। इस स्थिति में छात्रों और अभिभावकों को संदेह है कि केवल मास्क और सैनिटाइजर की मदद से सार्वजनिक परिवहन में सफर कर परिसर में जाना कितना सुरक्षित है। ऐसे में उम्मीद है कि कैम्पस खुलने के बाद भी कक्षाएं आनलाइन ही चलें। कोलकाता सहित राज्य के कई संस्थानों में सैकड़ों छात्र हैं। कोविड को लेकर जारी गाईडलाईन के अनुसार जिन शौचालयों को दिन में एक बार साफ नहीं किया जाता है, अब उन्हें कैसे कीटाणुरहित किया जाए, इस पर सवाल हैं।
कई संस्थानों में बुजुर्ग शिक्षक हैं। कक्षा शुरू करने के लिए क्या करना है, इस बारे में प्रारंभिक सोच शुरू हो गई है। जैसे कि बड़ी कक्षाओं को कई वर्गों में विभाजित करना, बड़ी संख्या में छात्रों को कमरे में रखना, परिसर की सफाई करना, नियमित रूप से बाथरूम की सफाई करना आदि। लेडी ब्रेबॉर्न कॉलेज की प्रिंसिपल शिउली सरकार ने कहा कि हमने विभाग के प्रमुख, वरिष्ठ शिक्षकों, अधिकारियों के साथ एक आभासी बैठक की। हम उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशों का भी इंतजार कर रहे हैं। प्रारंभ में, हालांकि, 30 विद्यार्थी वर्ग को दो भागों में विभाजित करने का निर्णय लिया है।
--

जलपाईगुड़ी में 12 गोदाम जलकर राख
-3 व्यवसायियों ने भागकर बचाई जान

कोलकाता . जलपाईगुड़ी के हाटखोला में सोमवार सुबह 11.30 बजे इलाके के 12 गोदाम जलकर राख हो गए। इस आग में लाखों की सब्जियाँ बेकार हो गई। हाल यह था कि 3 व्यवसायियों ने भागकर अपनी जान बचाई। स्थानीय लोगों का कहना है कि गोदाम के पास सूखे कूड़े के ढ़ेर को किसी ने जला दिया और किसी तरह आग गोदाम में लग गई। तभी से एक के बाद एक गोदाम में आग फैलने लगी। 12 गोदामों में लगी आग में लाखों रुपये के आलू और अन्य सब्जियां नष्ट हो गईं। फायर ब्रिगेड के देर से पहुंचने का साधारण लोगों ने विरोध किया। गोदाम में 3 व्यापारी काम कर रहे थे। वे किसी तरह भागकर बाहर निकले व जान बचाई। फायर ब्रिगेड करीब 45 मिनट देरी से मौके पर पहुंची। स्थानीय लोगों ने पहले विरोध प्रदर्शन किया। आम लोगो ने कहा कि राज्य सरकार ने पहले ही हाटखोला में एक फायर स्टेशन स्थापित करने की घोषणा की थी।लेकिन लगभग 2 साल बीत गए लेकिन यहां फायर स्टेशन नहीं बना।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned