निवेश के लिए आएं बंगाल : ममता

निवेश के लिए आएं बंगाल : ममता

Shankar Sharma | Publish: Nov, 14 2017 11:00:59 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को लंदन के सेंट जेम्स कोर्ट में उद्योगपतियों के साथ राउंड टेबल बैठक की

लंदन. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को लंदन के सेंट जेम्स कोर्ट में उद्योगपतियों के साथ राउंड टेबल बैठक की। इंग्लैंड-इंडियन बिजनेस काउंसिल व फिक्की के संयुक्त तत्वावधान में हुई बैठक में काउंसिल के चेयरमैन लॉर्ड डेविस और प.बंगाल के उद्योग-वाणिज्य तथा वित्त मंत्री डॉ. अमित मित्रा उपस्थित रहे। पश्चिम बंगाल में निवेश को लेकर विस्तार से चर्चा हुई।

पश्चिम बंगाल में सत्ता परिवर्तन के बाद पिछले छह साल में राज्य के औद्योगिक वातावरण में अप्रत्याशित बदलाव आने की तस्वीर पेश की गई। उद्यमियों को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में उनकी सरकार के सत्ता में आने के बाद श्रमिक असंतोष की घटनाएं थम गई। श्रम दिवस का नुकसान भी शून्य रहा।

निवेशक आएं तथा बंगाल में निवेश करें। राज्य सरकार के लैंड बैंक में जमीन सुरक्षित है। सिंगल विंडो सिस्टम के तहत सरकार निवेशकों को जमीन उपलब्ध कराने के साथ उद्योग के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करने में सहयोग करेगी।


मित्तल के आवास पर भी गईं

बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने स्टील किंग के नाम से मशहूर लक्ष्मी निवास मित्तल के आवास पर उनसे मुलाकात की। वह मित्तल के आवास पर करीब ३० मिनट रहीं। अधिकृत सूत्रों ने बताया कि मित्तल तथा इंग्लैंड के उद्योगपतियों की मुख्यमंत्री की बैठक के बाद निवेश की उम्मीदें जगी है।


बिजनेस समिट का दिया न्योता
मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों से जनवरी २०१८ के अंत में कोलकाता में होने वाले ग्लोबल बिजनेस समिट में हिस्सा लेने का न्योता दिया। विदेशी उद्यमियों को बंगाल का माहौल देखकर निवेश करने को कहा। विदेशी उद्यमियों को पश्चिम बंगाल के वर्तमान औद्योगिक वातावरण पर पुस्तिका भेंट की गई।

निवेदिता के मकान पर नाम-पट्टिका का अनावरण
लंदन/कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सिस्टर निवेदिता के लंदन स्थित पारिवारिक मकान के बाहर लगी नीले रंग की स्मारक नाम-पट्टिका का अनावरण किया। स्कॉटिश-आयरिश मूल की सामाजिक कार्यकर्ता सिस्टर निवेदिता स्वामी विवेकानंद की अनुयायी थीं। वह कोलकाता में अपने परमार्थ कार्यों के लिए बहुत प्रसिद्ध रहीं। तब कलकत्ता आने से पहले सिस्टर निवेदिता दक्षिण-पश्चिम लंदन के विम्बल्डन हाई स्ट्रीट पर बने मकान में रहती थीं। वह स्कूल खोलने और गरीबों की मदद करने का लक्ष्य लेकर कोलकाता आयी थीं। अनावरण कार्यक्रम में ममता ने कहा कि ‘यह हमारे लिए अत्यंत दुलर्भ क्षण है। इस धरती की बेटी, सिस्टर निवेदिता भारत के प्रति समर्पित थीं। हमारा देश उन्हें कभी नहीं भूला सकता।’

 

Ad Block is Banned