ग्रामीण आबादी के बीच बचत की आदत बनाने के लिए सम्पूर्णा डाक शुरू

डाक विभाग के पश्चिम बंगाल सर्किल के दक्षिण बंगाल क्षेत्र ने हाल ही में ग्रामीण आबादी के बीच बचत की आदत बनाने के लिए एक योजना शुरू की है।

By: Vanita Jharkhandi

Updated: 05 Mar 2021, 05:03 PM IST


कोलकाता
डाक विभाग के पश्चिम बंगाल सर्किल के दक्षिण बंगाल क्षेत्र ने हाल ही में ग्रामीण आबादी के बीच बचत की आदत बनाने के लिए एक योजना शुरू की है। इस बारे में चीफ पोस्टमास्टर जनरल ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्रामीण आबादी के वित्तीय समावेशन के कदम के रूप में एक नई अवधारणा का आरम्भ किया है। जिसे विभाग ने 'सम्पूर्णा डाक' के नाम पर रखा है। यह परिसेवा पहचाने किए गए गांव में पात्र बालिकाओं के लिए कम से कम एक पीओएसबी खाता, एक आरपीएलआई नीति और एक एसएसए खोलकर एक गांव के शतप्रतिशत ग्रामीण परिवारों को शामिल किया है। इस प्रक्रिया में प्रत्येक डाक उपखंड हर महीने कम से कम दो गांवों की पहचान करता है जिसमें न्यूनतम 100 घर आते हैं और ऐसे गांव को 'सम्पूर्णा डाक परिसेवा ग्राम' के रूप में शामिल किया जाता है। इस प्रकार पश्चिम बंगाल मण्डल में अब तक कुल 1506 गांवों को 'सम्पूर्ण डाक परिसेवा ग्राम' के रूप में कवर किया गया है। अधिक गांवों की पहचान की जाएगी और उन्हें सम्पूर्ण डाक परिसेवा ग्राम बनाने का प्रयास राज्य के बाकी हिस्सों में जारी रहेगा।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned