आइसीएसआइ के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का निर्माण शुरू

- कम खर्च में विद्यार्थियों को अच्छी ट्रेनिंग देना सेंटर का उद्देश्य

By: Rajendra Vyas

Published: 12 Jan 2021, 06:19 PM IST

कोलकाता. कॉरपोरेट गवर्नेंस के अभियान को गति देने के लिए द इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया (आइसीएसआइ) ने कोलकाता के न्यू टाउन में अपने नए कॉरपोरेट हब सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (सीओई ) के निर्माण की शुरुआत की।
आइसीएसआइ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सीएस आशीष गर्ग ने संवाददाताओं को बताया कि कम खर्च में यहां संबंधित विद्यार्थियों को 60 दिनों की ट्रेनिंग दी जाएगी। यह बिल्डिंग 18- 24 महीने में बनकर तैयार हो जाएगी। इस सेंटर का उद्देश्य विद्यार्थियों को अच्छी ट्रेनिंग देना है। इस सेंटर में विद्यार्थियों के लिए अकादमिक सुविधा के साथ ही आवासीय सहित अन्य विभिन्न महत्वपूर्ण सुविधाएं होंगी। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, कोलकाता न केवल अध्ययन और अनुसंधान की सुविधा प्रदान करेगा, बल्कि कॉर्पोरेट क्षेत्र को परामर्श भी प्रदान करेगा। गर्ग ने बताया कि वर्तमान में, संस्थान का मुंबई में कॉर्पोरेट गवर्नेंस, अनुसंधान और प्रशिक्षण केंद्र और हैदराबाद में उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) है। इस अवसर पर हिडको (डब्ल्यूबीएचआइडीसीओ) के सीएमडी एवं राज्य सरकार के अतिरिक्त मुख्य सचिव देवाशीष सेन, बंधन बैंक के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ चंद्र शेखर घोष सम्मानित अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
सेन ने कहा कि संस्थागत क्षेत्र में स्थित होने के कारण आइसीएसआइ सीओई क्षेत्र के अन्य शैक्षणिक संस्थानों के छात्रों को भी लाभान्वित करेगा। आइसीएसआइ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सीएस नागेंद्र डी राव भी उपस्थित रहे। आइसीएसआइ के काउंसिल मेंबर और सीओई, कोलकाता इन्फ्रास्ट्रक्चर कमेटी के चेयरमैन सीएस दीपक कुमार खेतान ने वर्चुअल प्रणाली से समरोह को संबोधित किया। आइसीएसआइ के काउंसिल मेंबर सीएस मनीष गुप्ता ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

Rajendra Vyas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned