चुनाव के घोषणा के बाद साइकिलें वितरित करने को लेकर बारासात में विवाद

इसकी जानकारी फैलने लगी वैसे ही साइकिल बांटने का काम बन्द कर दिया गया।

By: Vanita Jharkhandi

Published: 05 Mar 2021, 04:16 PM IST

 

कोलकाता
चुनाव की घोषणा के बाद भी बारासात में सबूज साथी प्रकल्प के तहत विद्यार्थियों में साइकिल बांटने का काम कर रही थी। जैसे ही इसकी जानकारी फैलने लगी वैसे ही साइकिल बांटने का काम बन्द कर दिया गया। बुधवार को पालिका की ओर से विद्यार्थियों के अभिभावकों को साइकिल लेने के लिए बुलाया गया था। लोगों को जानकारी होने के बाद बांटने के काम बन्द कर दिया। इसके बाद साइकिल न मिलने से अभिभावकों में रोष देखा गया। इसको लेकर इलाके के स्कूल में तनाव पूर्ण
माहौल हो गार या। सूत्रों के अनुस चुनाव के घोषणा के बाद साइकिलें वितरित करने को लेकर बारासात सत्यभारती विद्यालय के छात्रों को बुधवार सुबह किसलय होम के सामने साइकिल देने के लिए बुलाया गया था। कुछ छात्रों को साइकिल भी दे दी गई। ऐसा होते देख कइयों ने अपने मोबाइल फोन पर दृश्य कैदने लगे। उसके बाद सिविल सेवक सतर्क हो गए। उन्होंने बताया क निर्देशानुसार साइकिल वितरित कर रहे थे। जानकारी होते ही कुछ ही पलों में साइकिल बांटने का काम रोक दिया गया। छात्रों के माता-पिता ने कहा कि साइकिल नहीं देना था तो क्यू बुलाया। बारासात नगर पालिका प्रशासन के अध्यक्ष सुनील मुखर्जी ने कहा कि उन्हें इस घटना की जानकारी नहीं है। यह सरकारी कार्यक्रम पूर्व निर्धारित था। सिविल सेवक उस तरह साइकिल बांट रहे थे। सुनील ने कहा कि उन्होंने इस मामले को सुना और साइकिल वितरण को रोकने का आदेश दिया। दूसरी ओर, भाजपा के युवा अध्यक्ष कौशिक मजुमदार ने आरोप लगाया कि सत्ता पक्ष वोट खरीदने के लिए साइकिल से नीचे आया था। वे इसकी शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned