राजारहाट में कोरोना संक्रमण में कमी विधाननगर में अधिक

- राहत की सुधार की संख्या में इजाफा

By: Vanita Jharkhandi

Published: 02 Aug 2020, 07:57 PM IST

विधानगर

विधाननगर नगरनिगम में कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है वही उससे सटे राजारहाट इलाके में संक्रमितों की संख्या में नियन्त्रण देखा जा रहा है। दूसरी ओर राहत है कि कोरोना मरीजों के ठीक होने की संख्या में भी इजाफा हुआ है। विधाननगर सूत्रों के अनुसार जहां पीड़ितों की संख्या पिछले जून में 550 से कम थी, जुलाई में यह बढ़कर 1,500 हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार, 31 जुलाई तक विधाननगर में पीड़ितों की कुल संख्या 1941 थी। 41 लोग मारे ग सूत्रों के अनुसए हैं। अधिकारियों के अनुसार लगभग एक हजार कोरोना पीड़ित ठीक हुए हैं।

बाजार में अनावश्यक भीड़, मास्क न पहनने की प्रवृत्ति और दूरी बनाए न रखने की आदतें के करण खतरा बढ़ा हैं। नगर निगम का दावा है कि सरकारी नियमों का पालन करने के लिए हर संभव प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा, होम क्वरंटाइन की निगरानी की जा रही है। क्योंकि, नियम तोड़ने की कई घटनाएं निगम के संज्ञान में आई हैं। इसलिए अधिकारियों के कहे अनुसार कोमई भी घर से बाहर नहीं निकले जब तक कि होम संगरोध में रहने की समय समा समाप्त नहीं हुई है।
विधाननगर में इस स्थिति के बावजूद नगर पालिका से दूर राजारहाट के ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना स्थिति की तस्वीर थोड़ा आशाजनक है। राजारहाट ब्लॉक प्रशासन के सूत्रों के अनुसार अब तक 173 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 94 लोग ठीक हो चुके है। छह लोगों की मौत हुई है। बाकी का इलाज चल रहा है। एक समय था कि इलाके में रोजाना मरीजों की संख्या 19 तक पहुंच गई थी जो अब चार या पांच से अधिक लोग संक्रमित नहीं हो रहे हैं। राजारहाट का वीडीओ जयंत चटर्जी ने कहा कि नागरिकों के एक वर्ग ने अभी तक जागरूक नहीं है। लेकिन बहुसंख्यक जागरूक हो गए हैं। नियमों का पालन करना।
हालांकि विधाननगर निगम इलाके में जागरूकता फैलाने पर जोर देने के अलावा, बुनियादी ढांचे के विकास के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। साल्ट लेक के अलावा, राजारहाट-गोपालपुर में एक कोरोना परीक्षण केंद्र शुरू करने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। विधाननगर नगरनिगम के सूत्रों का दावा है कि वे कोलकाता नगर निगम की शैली में तेजी से प्रतिजन परीक्षण के बारे में भी सोच रहे हैं। महापौर परिषद (स्वास्थ्य) प्रणय रॉय ने कहा, “उन लोगों से अपील करें जो होम क्वारेंटाइन में हैं वे बाहर न आए। उनके साथ नियमित संपर्क बनाए रखा जा रहा है। जरूरत पड़ने पर प्रशासन सहयोग करेगा।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned