कोलकाता में कंट्रोल में कोरोना

राज्य सरकार की तमाम कोशिशें रंग लाती नजर आ रही हैं। कुछ विशेष दिनों में पूर्ण लॉकडाउन समेत कई कदम सरकार ने उठाए हैं। इसका नतीजा है कि राज्य में कुछ हद तक कोरोना वायरस का प्रसार थमता दिख रहा है। खासकर महानगर कोलकाता में कोरोना वायरस अब काबू में नजर आने लगा है।

By: Rabindra Rai

Published: 07 Sep 2020, 06:25 PM IST

कोलकाता. राज्य सरकार की तमाम कोशिशें रंग लाती नजर आ रही हैं। कुछ विशेष दिनों में पूर्ण लॉकडाउन समेत कई कदम सरकार ने उठाए हैं। इसका नतीजा है कि राज्य में कुछ हद तक कोरोना वायरस का प्रसार थमता दिख रहा है। खासकर महानगर कोलकाता में कोरोना वायरस अब काबू में नजर आने लगा है। राज्य सरकार की ताजा सूची के मुताबिक कोलकाता में निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या घटकर एक रह गई है। गत 23 अगस्त की पिछली सूची में शहर में कोरोना वायरस संबंधी 17 निषिद्ध क्षेत्र थे। शहर में शनिवार तक एक निषिद्ध क्षेत्र है जो उत्तर कोलकाता के गिरीश पार्क की उमेश दत्ता लेन में है।
--
धीरे-धीरे हो रही कम
कोलकाता के निषिद्ध क्षेत्रों की संख्या धीरे-धीरे कम हुई है। महानगर में 11 मई को 338 निषिद्ध क्षेत्र थे। पड़ोसी हावड़ा जिले में 74 निषिद्ध क्षेत्र हैं। दक्षिण 24 परगना और उत्तर 24 परगना में क्रमश: 54 और 31 निषिद्ध क्षेत्र हैं। राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान एक्टिव लोगों की संख्या में 172 की गिरावट आई है। केवल 23,218 मरीज संक्रमित रह गए हैं जो विभिन्न अस्पतालों में इलाजरत हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि राज्य में जिस तेजी से रिकवरी रेट बढ़ रहा है उसे देखते हुए संभावना प्रबल है कि इस महीने के आखिर पर वायरस पर काबू पाया जा सकता है।
--
कारगर साबित होता पूर्ण लॉकडाउन
कुछ हिस्सों में कोरोना वायरस के सामुदायिक प्रसार की संभावना के चलते सरकार ने कुछ खास दिनों में प्रदेश में पूर्ण लॉकडाउन लागू करने का फैसला किया है। राज्य में इस माह का पहला पूर्ण लॉकडाउन
7 सितम्बर को रहा। इससे पहले राज्य में 23 जुलाई, 25 जुलाई, 29 जुलाई, पांच, आठ और 20 व 27 अगस्त को भी पूर्ण लॉकडाउन लागू किया गया था। इस माह में अब 11 और 12 सितम्बर को संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है।

Corona virus कोरोना वायरस
Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned