बुलबुल से हावड़ा के ग्रामीण इलाकों में फसलों को नुकसान

बुलबुल से हावड़ा के ग्रामीण इलाकों में फसलों को नुकसान

बुलबुल से हावड़ा के ग्रामीण इलाकों में फसलों को नुकसान

- कच्चे मकानों को पहुंचा नुकसान, 4625 को 30 कैम्पों में रखा
- गदियाड़ा में एनडीआरएफ की टीम तत्पर रही

हावड़ा
चक्रवाती तूफान बुलबुल से हावड़ा शहर में खास प्रभाव नहीं पड़ा है, पर हावड़ा के ग्रामीण इलाके में इसका प्रभाव देखा गया। कई इलाकोंमें धान की फसलों को नुकसान पहुंचा है। कलक्टर मुक्ता आर्य ने बताया कि राहत व बचाव कार्य के लिए पहले से ही एनडीआरएफ की टीम व बचाव दल मौजूद है। इस दौरान किसी कोई हताहत नहीं हुआ है। इस दौरान कुछ कच्चे मकानों को नुकसान पहुंचा है। सात ब्लाक के 4625 ग्रामीणों को 30 कैम्पों में रखा गया है।

आमता ब्लाक दो के 78 ग्रामीणों को एक कैम्प में, उदयनारायणपुर से 58 लोगों को गांव के स्कूल में रखा गया , बागनान ब्लाक 2 के 190 जनों को 6 कैम्पों में , बागनान ब्लाक एक के 57 जनों को 2 कैम्पो में, उलूबेडिय़ा ब्लाक एक के 144 जनों को 3 कैम्पो में, श्यामपुर एक के 763 को 12 कैम्पों मे, श्यामपुर ब्लाक दो 3335 को 6 कैम्पों में रखा गया है। जहां इनके रहने के साथ खाने का प्रबंध जिला प्रशासन की ओर से किया गया था। कलक्टर ने बताया कि श्यामपुर के प्रभावित अंचल गदियाड़ा में एनडीआरएफ की दो टीम, बचाव दल की एक टीम व एम्बुलेंस की व्यवस्था की गई है। उदयनारायणपुर व आमता में तूफान का प्रभाव अधिक दिखा।

बी गार्डन में पेड़-पौधों को नुकसान

- चक्रवाती तूफान बुलबुल का असर
हावड़ा

चक्रवाती तूफान बुलबुल से बॉटेनिकल गार्डन में ढाई सौ साल पुराने बरगद पेड़ की टहनियां सहित अन्य पेड़ पौधों को भी नकुसान पहुंचा है। बी गार्डन सूत्रों के मुताबिक तूफानी हवा के कारण बरगद के पेड़ व कुछ अन्य पेड़ों को नुकसान पहुंचा है। रविवार को टूटे पेड़ व पौधे को हटाने का काम शुरू किया गया। हावड़ा शहरी अंचल में भी पेड़ों के गिरने की खबर मिली है। हावड़ा स्टेशन के आस पास होर्डिंग क्षतिग्रस्त हुए हैं। कई जगहों पर होर्डिंग लटक गए हैं, उनके गिरने का खतरा है। हावड़ा ग्रामीण अंचल में 10 हजार हेक्टर जमीन पर धान की फसलों को नुकसान पहुंचा है। करीब डेढ़ हजार हेक्टर जमीन पर सब्जियों को नुकसान पहुंचा है।

Nirmal Mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned