scriptDilip Ghosh will do this work by staying in Bengal | Politics: बंगाल में रह कर दिलीप घोष यह करेंगे काम | Patrika News

Politics: बंगाल में रह कर दिलीप घोष यह करेंगे काम

BJP के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष Dilip Ghosh ने आठ राज्यों की सांगठनिक जिम्मेदारी मिलने के साथ ही खुद को बंगाल से अलग किए जाने की अटकलों को खारिज कर दिया। उन्होंने अपने करीबी लोगों से कहा है कि वे बंगाल में रहकर ही वर्चुअल माध्यम से दूसरे राज्यों में पार्टी संगठन को मजबूत करने का काम करते रहेंगे ।

कोलकाता

Published: May 27, 2022 06:48:43 pm

इन राज्यों में पार्टी का कामकाज करेंगे इसे तरीके से
भाजपा में दिलीप दा का सही मूल्यांकन नहीं: तृणमूल
कोलकाता. भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने आठ राज्यों की सांगठनिक जिम्मेदारी मिलने के साथ ही खुद को बंगाल से अलग किए जाने की अटकलों को खारिज कर दिया। उन्होंने अपने करीबी लोगों से कहा है कि वे बंगाल में रहकर ही वर्चुअल माध्यम से दूसरे राज्यों में पार्टी संगठन को मजबूत करने का काम करते रहेंगे । इस बीच सत्तारूढ़ दल तृणमूल ने कहा कि भाजपा में दिलीप घोष का महत्व ही नहीं समझा गया। पार्टी में उनका सही मूल्यांकन नहीं किया गया।
--
शुरुआत में दौरे
दिलीप घोष ने कहा कि शुरुआती दिनों में मैं एक या दो बार उन राज्यों का दौरा करूंगा, जिनकी मुझे जिम्मेदारी मिली है। वहां काम शुरू करने के बाद मैं कोलकाता से ही आभाषीय मंच से काम करूंगा। सब कुछ ऑनलाइन होगा।
--
सुकांत और शुभेन्दु पर कटाक्ष
जब उनसे पूछा गया कि उन्हें दूसरे राज्यों की जिम्मेदारी मिलने से क्या प्रदेश भाजपा के नेता खुश हैं। जवाब में उन्होंने नाम लिए बगैर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार और नेता प्रतिपक्ष शुभेन्दु अधिकारी पर तीखा कटाक्ष किया। उन्होंने कहा कि कुछ नेताओं को मैं खुश नहीं कर पा रहा हूं। इसके लिए मैं उनसे क्षमा चाहता हूं। इधर पूर्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष तथागत रॉय ने ट्वीट कर दिलीप घोष को दूसरे राज्यों की जिम्मेदारी दिए जाने पर खुशी जाहिर करते हुए उन्हें शुभकामनाएं दी है।
--
दल बदलुओं के सामने नहीं झुके दिलीप दा: कुणाल
तृणमूल के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि दिलीप दा सोचें कि जिस दल के लिए वे इतना सब कुछ करते हैं वह आपका सम्मान कर रहा है या अपमान। आप बंगाल में ही रहकर राजनीति करें। आप से हमारी राजनीतिक लड़ाई है और रहेगी, लेकिन इस मुद्दे पर मैं आपके साथ हूं। दल बदलू नेता आपको बंगाल से बाहर करना चाहते हैं। आप उनके सामने सिर मत झुकाना। परिवहन मंत्री फिरहाद हकीम कहा कि दिलीप दा से मेरे पुराने संबंध हैं। उनके बारे में जानकर वास्तव में दु:ख होता है। भाजपा में हमेशा से उनकी उपेक्षा होती रही है।
Politics: बंगाल में रह कर दिलीप घोष यह करेंगे काम
Politics: बंगाल में रह कर दिलीप घोष यह करेंगे काम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.