ड्रग्स कांड: भाजपा नेता राकेश सिंह को एक मार्च तक पुलिस हिरासत

भाजपा नेता राकेश सिंह के दोनों बेटों को सशर्त जमानत

- भाजपा नेता राकेश सिंह एक मार्च तक पुलिस हिरासत

By: Krishna Das Parth

Published: 25 Feb 2021, 12:34 AM IST

कोलकाता
ड्रग्स मामले में भाजपा नेता राकेश सिंह पर शिकंजा कसता जा रहा है। कोलकाता की अलीपुर कोर्ट ने बुधवार को राकेश सिंह को एक मार्च तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है। पुलिस ने मंगलवार को सिंह को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन उन्होंने खुद के दिल्ली में मौजूद होने का बहाना बनाकर कुछ दिन तक आने से इनकार कर दिया था। बाद में बंगाल पुलिस ने रात में उन्हें कोलकाता से करीब 130 किलोमीटर दूर पूर्व बर्दवान जिले के गलसी से गिरफ्तार किया था। सिंह के साथ उनके दोनों बेटों को भी गिरफ्तार किया गया है।
राकेश सिंह को गिरफ्तार किए जाने के बाद बुधवार दोपहर को उन्हें कोलकाता की अलीपुर कोर्ट में पेश किया गया। जब उन्हें कोर्ट में पेश करने के लिए ले जाया जा रहा था, तब वह कोर्ट के बाहर कैमरों के सामने अचानक नीचे सडक़ पर बैठ गए। इस दौरान, समर्थकों ने राकेश सिंह के समर्थन में नारेबाजी की।
भारतीय जनता युवा मोर्चा की राज्य सचिव पामेला गोस्वामी को उनके एक दोस्त और निजी सुरक्षा गार्ड के साथ 19 फरवरी को दक्षिण कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। उनकी कार से करीब 90 ग्राम कोकीन मिली थी। गोस्वामी ने आरोप लगाया था कि यह सिंह की साजिश है। हालांकि, राकेश सिंह ने आरोपों से इनकार कर दिया था। पामेला के आरोप के बाद पुलिस ने राकेश सिंह को गिरफ्तार किया है।

भाजपा नेता राकेश सिंह के दोनों बेटों को सशर्त जमानत

भाजपा नेता राकेश सिंह के दोनों बेटों साहेब सिंह और शुभम सिंह को अलीपुर कोर्ट ने सशर्त जमानत पर रिहा कर दिया। संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि दोनों को भारतीय दंड विधान की धारा 353 ( पुलिस के काम में दखल/बाधा पहुंचना) के तहत गिरफ्तार किया गया था।
----------
पामेला को ड्रग्स सप्लाई करता था राकेश सिंह, पुलिस का दावा

पुलिस का दावा है कि भाजपा नेता राकेश सिंह, पामेला गोस्वामी को ड्रग्स सप्लाई करता था। पामेला से पूछताछ करने के बाद यह महत्वपूर्ण जानकारी मिली है। पुलिस का कहना है कि पूछताछ के दौरान पामेला ने बताया कि राकेश सिंह उसे कोकीन की आपूर्ति करता था। पुलिस को शक है कि इनके बीच में एक लिंकमैन भी है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है। पुलिस का कहना है कि पामेला द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर ही भाजपा नेता राकेश सिंह को गिरफ्तार किया गया है।
भाजपा नेता राकेश सिंह और उनके साथी जितेंद्र सिंह को ड्रग मामले में मंगलवार को गिरफ्तार किया गया था। चूंकि राकेश सिंह दिल्ली जाने वाले थे, सूचना मिलते ही पुलिस मंगलवार को हवाई अड्डे पर भी मौजूद थी।
पुलिस के अनुसार, राकेश सिंह ने भुवनेश्वर से दिल्ली जाने की योजना बनाई थी। पुलिस ने एक गुप्त सूत्र से सूचना मिलने पर भुवनेश्वर जाने वाले रास्ते पर नाकाबंदी कर तलाशी शुरू कर दी थी। इसके बाद पूर्व बर्दवान के गलसी से भाजपा नेता राकेश को गिरफ्तार किया गया। राकेश और उनके साथी जितेंद्र को मंगलवार की रात को ही लालबाजार लाया गया।
कोलकाता में कोकीन की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार हुई भाजपा युवा मोर्चा की नेता पामेला गोस्वामी ने कैलाश विजयवर्गीय के करीबी भाजपा नेता राकेश सिंह का तब नाम लिया था। इसके बाद पुलिस ने इस घटना में न्यू अलीपुर पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया। इसी मामले में पुलिस ने राकेश सिंह को सीआरपीसी की धारा 160 और एनडीपीसी अधिनियम की धारा 7 के तहत मंगलवार शाम 4 बजे तक लालबाजार में नारकोटिक्स विभाग के सामने पेश होने के लिए नोटिस दिया था। लेकिन राकेश सिंह लालबाजार तय समय पर नहीं पहुंचे। इसके बाद पुलिस उन्हें खोजते हुए उनके घर पहुंच गई जहां उनके दोनों बेटों ने पुलिस के काम में बाधा पहुंचाया। बाद में उनको भी गिरफ्तार किया गया। इस सिलसिले में प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष का कहना है कि राकेश की गिरफ्तारी प्रतिशोध के तहत हुई है। हालांकि तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत राय ने इसका खंडन करते हुए कहा कि पुलिस कानून के तहत अपना काम कर रही है।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned