दमदम हवाई अड्डे ने लॉक डाउन के दौरान भी निभाया दायित्व

-24 मार्च से 3 मई के दरम्यान कराबन 12 उड़ानों का संचालन हुआ। इसके अतिरिक्त कार्गों उड़ानें भी संचालित हुई।

By: Vanita Jharkhandi

Published: 14 Jun 2020, 05:16 PM IST


कोलकाता
नेताजी सुभाषचन्द्र बोस अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में लॉक डाउन के दौरान भी अपने दायित्वका निर्वाह करते हुए यहां से फंसे हुए विदेशी नागरिकों को उनके देश पहुंचाने में चुटे रहे। 24 मार्च से 3 मई के दरम्यान कराबन 12 उड़ानों का संचालन हुआ। इसके अतिरिक्त कार्गों उड़ानें भी संचालित हुई। आधिकारिक सूत्रों के अनसार कोलकाता में फंसे लोगों को पहुंचाने के साथ ही विदेशी एम्बेंसी व अन्य विदेशी कार्यालयों में फंसे लोगों को उनको देश में पहुंचाने के लिए कोलकाता हवाई अड्डे का इस्तेमाल किया। कुछ उड़ान दिल्ली से होते हुए लंदन, जर्मन, बांग्लादेश, श्रीलंका आदि स्थानों में लोगों को पहुंचा रहे है। 24 मार्च को 69 यात्री को लेकर एयर इंडिया के दिल्ली उड़ान, 30 मार्च अहमदाबाद के लिए 68 यात्री, 31 मार्च को दिल्ली 115 यात्री को लेकर एयर इंडिया की उड़ान पहुंची। वही ड्रूक एयरवेज की दो उड़ान कोलकाता से 14अप्रेल को 40 व 10 लोगों को लेकर काणमांडू के पारो में पहुंची। 14 अप्रेल व 19 अप्रेल को ब्रिटिश एयरवेज की उड़ान 160 व 160 करके दिल्ली से होते हुए लंदन पहुंची। इसके अलावा 25 अप्रेल को 49 यात्रियों को लेकर जर्मन, 28 अप्रेल को कतर एयरवेज की उड़ान दोहा के लिए 139 तथा 30 अप्रेल को 140 यात्रियों को श्रीलंका पहुंचाया गया। इसके अलावा बंगाल में फंसे बांग्लादेशियों को पहुंचाने के लिए एक मई और तीन मई को यात्रियों को लेकर ढाका पहुंची। डीजीसीए की ओर से बताया गया है कि सुरक्षा के तमाम पहलुओं को ध्यान में रखकर ही यह सारी उड़ानों की आवाजाही की जा रही है। सभी यात्रियों व केबिनक्रू को पूरे एतिहात बरत करने के बाद ही उड़ान भरने की इजाजत मिल रही है।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned