टीटागढ़: कहीं जूट का पंडाल तो कहीं देवी दुर्गा के 9 रूप के दर्शन

टीटागढ़: कहीं जूट का पंडाल तो कहीं देवी दुर्गा के 9 रूप के दर्शन

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Oct, 13 2018 11:17:50 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 11:17:51 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

आरके देव पथ पूजा कमेटी की पूजा का 75 वां साल

जूट मिल बहुल टीटागढ़ में करीब 44 जगह दुर्गापूजा का आयोजन किया जाता है। ब्रह्मस्थान, आरके.देव पथ, एसवी पथ, मछली बाजार, विवेकनगर, गुड्स शेड रोड, रुकमणि सिनेमा इलाके में बड़े पैमाने पर पूजा का आयोजन किया जाता है।

टीटागढ़

एक समय मिनी इंडिया के नाम से मशहूर उत्तर 24 परगना जिले के टीटागढ़ में इस साल दुर्गापूजा में ब्रह्मस्थान के नजदीक जूट और धान के पुआल से बना पूजा मंडप, आरके देवपथ में देवी दुर्गा के सभी नौ स्वरूप की प्रतिमा और मछली बाजार के पंडाल में दृश्य श्रद्धालुओं के आकर्षण का केन्द्र रहेगा। मौसम खराब होने के कारण पूजा मंडप की सजावट का काम अभी तक ठीक से पूरा नहीं हुआ है। साज-सज्जा का काम युद्धस्तर पर चल रहा है। पूजा आयोजक कमेटियों का कहना है कि पंडाल का काम पूरा हो गया है। सजावट का कुछ काम बाकी है। चक्रवाती तूफान तितली के प्रभाव से पिछले दो दिनों से हो रही बारिश से काम प्रभावित हुआ। हालांकि शानिवार शाम से मौसम हल्का साफ हुआ है। काम शुरू कर दिया गया है। रविवार शाम तक साज-सज्जा का काम पूरा कर लिया जाएगा। आरके देव पथ पूजा कमेटी की पूजा का 75 वां साल है इसलिए कमेटी ने शोला की प्रतिमा एवं आकर्षक पूजा मंडप के साथ बेहतरीन विद्युत सज्जा की व्यवस्था की गई जा रही है। पूजा कमेटी का दावा है कि इस साल उन्हें सर्वश्रेष्ठ पूजा का खिताब मिलेगा।
जूट मिल बहुल टीटागढ़ में करीब 44 जगह दुर्गापूजा का आयोजन किया जाता है। ब्रह्मस्थान, आरके.देव पथ, एसवी पथ, मछली बाजार, विवेकनगर, गुड्स शेड रोड, रुकमणि सिनेमा इलाके में बड़े पैमाने पर पूजा का आयोजन किया जाता है। गुड्स शेड रोड में प्रत्येक वर्ष कभी राजा दक्ष यज्ञ तो कभी महिषा सुर वध का सीन (डायलॉग सहित) दिखाया जाता था। इस साल कुछ अपरिहार्य कारणों से पूजा मंडप में केवल भव्य प्रतिमा को रखा गया है।

Ad Block is Banned