तब बहुत पापड़ बेले अब ममता को लगा बुरा

ईस्ट वेस्ट मेट्रो परियोजना के पहले चरण के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नहीं बुलाने को लेकर मामला तूल पकड़ता जा रहा है। राज्य के तीन मंत्रियों के केन्द्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने के दूसरे दिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपना मुंह खोला। तृणमूल प्रमुख ने शुक्रवार को ऐतराज जताया और कहा कि जब वह रेल मंत्री थीं तब उनकी टीम को इस परियोजना को मंजूरी दिलाने के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़े थे। अब परियोजना के उद्घाटन समारोह में उन्हें बुलाया तक नहीं गया।

कोलकाता. ईस्ट वेस्ट मेट्रो परियोजना के पहले चरण के उद्घाटन समारोह में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नहीं बुलाने को लेकर मामला तूल पकड़ता जा रहा है। राज्य के तीन मंत्रियों के केन्द्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने के दूसरे दिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपना मुंह खोला। तृणमूल प्रमुख ने शुक्रवार को ऐतराज जताया और कहा कि जब वह रेल मंत्री थीं तब उनकी टीम को इस परियोजना को मंजूरी दिलाने के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़े थे। अब परियोजना के उद्घाटन समारोह में उन्हें बुलाया तक नहीं गया।
सीएम ने विधानसभा में कहा कि हमने ईस्ट-वेस्ट मेट्रो परियोजना के लिए कड़ी मेहनत की थी। सही मायने में हमें उसकी मंजूरी के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़े। जब मुझे इस उद्घाटन के बारे में भी नहीं बताया गया तो मुझे बहुत बुरा लगा।
वह 2009 से 2011 तक रेल मंत्री थीं। ममता बनर्जी ने कहा कि वह अन्य मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर उनसे एनपीआर की प्रक्रिया नहीं करने की अपील करेंगी क्योंकि यह एनआरसी की पूर्वपीठिका है।
--
वहां कांग्रेस का अस्तित्व नहीं
पश्चिम बंगाल के राजनीतिक दलों पर राजनीतिक प्रदूषण फैलाने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री ने भाजपा के सामने राजनीतिक रूप से हथियार डाल देने को लेकर माकपा और कांग्रेस की आलोचना की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जितना माकपा के करीब जाएगी, वह उतना ही अपना महत्व गंवाएगी। जहां भी क्षेत्रीय दल मजबूत हैं, वहां सही मायने में कांग्रेस का कोई अस्तित्व नहीं है।
--
इस कार्यक्रम से रहीं दूर
इस मेट्रो परियोजना का पहला चरण साल्टलेक के सेक्टर ५ और साल्टलेक स्टेडियम को जोडऩे वाला 4.88 किलोमीटर लंबा गलियारा है। त्वरित परिवहन मेट्रो नेटवर्क के ईस्ट-वेस्ट गलियारे के पहले चरण का मंगलवार शाम रेल मंत्री पीयूष गोयल ने उद्घाटन किया लेकिन तृणमूल कांग्रेस आमंत्रित सदस्यों की सूची में ममता बनर्जी का नाम गायब होने की वजह से इस कार्यक्रम से दूर रही थीं।
--
यह लगाया आरोप
राज्य के संसदीय कार्य राज्य मंत्री तापस राय ने आरोप लगाया कि भाजपा नेता और केन्द्र के मंत्री राजनीतिक शिष्टाचार नहीं जानते। राज्य में इतनी बड़ी परियोजना का उद्घाटन हुआ और उसके उद्घाटन में मुख्यमंत्री को आमंत्रित नहीं किया गया। राज्य के मंत्री गौतम देव ने कहा कि भाजपा जन विरोधी और घृणा की राजनीति कर रही है। इस लिए देश की जनता इसे खारिज कर रही है। दूसरी ओर मेट्रो रेलवे ने तृणमूल के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि ममता बनर्जी को आमंत्रित करने का दावा किया।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned