ED notice : कोलकाता के किस व्यवसायी को ईडी ने दिया 206 का नोटिस, जानिए कैसे

इडी ने आरबीआई के नियमों और विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन कर सिंगापुर के एक गोपनीय विदेशी बैंक खाते में 206 करोड़ रूपए रखने के आरोप में कोलकाता के एक व्यवसायी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। बुधवार को जारी बयान में केंद्रीय जांच एजेंसी ने एक बिल्डर सिंगापुर में विदेशी मुद्रा में अवैध लेनदेन, व्यापार, अवैध बाहरी उधार और अनधिकृत रूप से विदेशी बैंक खाते खोलने का आरोप लगाया है।

By: Manoj Singh

Published: 26 Jun 2020, 10:30 AM IST

कैसे पता चला कि उक्त व्यापारी ने विदेशी बैंक खाते में कितना धन रखा है

कोलकाता
प्रवर्तन निदेशालय (इडी) ने आरबीआई के नियमों और विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम का उल्लंघन कर सिंगापुर के एक गोपनीय विदेशी बैंक खाते में 206 करोड़ रूपए रखने के आरोप में कोलकाता के एक व्यवसायी को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। बुधवार को जारी बयान में केंद्रीय जांच एजेंसी ने बिल्डर और मणि समूह के प्रमोटर संजय झुनझुनवाला पर सिंगापुर में विदेशी मुद्रा में अवैध लेनदेन, व्यापार, अवैध बाहरी उधार और अनधिकृत रूप से विदेशी बैंक खाते खोलने का आरोप लगाया है।
एजेंसी के विशेष निदेशक स्तर के एक अधिकारी ने बताया कि विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के कथित उल्लंघन के लिए व्यवसायी को 206 करोड़ रुपए का कारण बताओ नोटिस जारी किया है। एजेंसी के मुताबिक वित्तीय प्रवर्तन इकाई को विदेश से मामले की सूचना मिली थी। प्रवर्तन निदेशालय कीजांच के बाद नोटिस जारी किया गया है।
जांच में पाया गया है कि झुनझुनवाला ने अनधिकृत रूप से एलजीटी बैंक (सिंगापुर) में व्यक्तिगत विदेशी बैंक खाता खोला और भारी उधारी के जरिए विदेशी मुद्राओं में लेनदेन किया।
इडी ने जांच में पाया है कि झुनझुनवाला ने कोलकाता से सटे राजारहाट सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) और सूचना प्रौद्योगिकी सेवा (आईटीएस) परियोजनाओं में निवेश करने के लिए एक विदेशी नागरिक के साथ संयुक्त उपक्रम का करार किया था। जिसकी परियोजना जमीन पर नहीं उतरी। उक्त संयुक्त उद्यम समझौते की आड़ में उसने उक्त कंपनी के नाम से दूसरे देश में विदेशी बैंक खाते खोले और उससे लेन-देन किया। उक्त संयुक्त उद्यम समझौते की आड़ में उसने उक्त कंपनी के नाम से दूसरे देश में विदेशी बैंक खाता खोला और उससे लेने-देन किया, जिसमें झुनझुनवाला लाभकारी मालिक है।

Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned