15 घाटों की सफाई के लिए विशेषज्ञ कमेटी नियुक्त

- गंगा प्रदूषित न हो इसके लिए उठाया कदम

By: Vanita Jharkhandi

Published: 28 Oct 2020, 08:21 PM IST



हावड़ा
विसर्जन के बाद घाटों की सफाई के लिए हावड़ा नगरनिगम ने हावड़ा शहर में 15 घाटों की सफाई के लिए एक निजी विशेषज्ञ को नियुक्त किया। विसर्जन के बाद गंगा के घाटों में पड़े पूजा की सामग्री आदि से गंगा को प्रदूषित नहीं किया जाए। मूर्ति को डंप करने के बाद कचरा निपटान के लिए घाटों पर जेसीबी, डंपर और क्रेन का इस्तेमाल किया गया। नगरनिगम के कार्यकर्ता विसर्जन के बाद घाट की सफाई करने में जुटकर सारी सामग्री को पीनी से बाहर निकाल कर घाटों को पूरी तरह से साफ करते नजर आए।
नगरनिगम और पुलिस सूत्रों के अनुसा दशमी के दिन ही 75 प्रतिशत मूर्तियों का विसर्जन हो गया था। मंगलवार और बुधवार को कुछ प्रतिमा का विसर्जन किया गया। देखा जाता है कि हर बार गंगा में कचरा गिरने के सामग्री पड़े-पड़े सड़ने से कारण गंगा प्रदूषित होती है इसका आरोप लगता है। इस बार घाट की सफाई के लिए नगरपालिका ने एक पेशेवर निकाय की नियुक्त इस काम के लिए की गई है। घाटों का विसर्जन के तुरन्त बाद ही पूरी तरह से सफाई कर ली जा रही थी।
निगम के अनुसार जैसे ही गंगा घाटों में फूलों और मालाओं सहित मूर्ति सामग्री गिराए जा रहे थे वैसे ही सफाईकर्मियों ने उन्हें एकत्र उन्हें वहां से हटा ले रही थी। पुलिस व निगम के आधिकारिकों की नजर इस पर लगी रही। इस पूरे कार्य को पुलिस व निगम की ओर से रेकॉर्डिंग करके फेसबुक पर पोस्ट भी की गई ताकि लोगों देख सकें कि विसर्जन के बाद किस तरह का कार्य हो रहा है।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned